युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वïान पर आज लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध और केंद्रीय ग्रह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर किसानों ने रेल रोको प्रदर्शन किया। हालांकि, किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस-प्रशासन, आरपीएफ-जीआरपी के अधिकारियों ने जिले के सभी रेलवे स्टेशनों, हॉल्ट पर संभावित फाटकों पर मोर्चा संभाला और कहीं भी ऐसी घटना नहीं होने दी, जिसकी वजह से यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़े। किसानों ने मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन किया तो वहीं लोनी में किसानों को पहले ही नजरबंद कर दिया गया।
मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसान पहुंचे और उन्होंने मालगाड़ी को रोककर प्रदर्शन किया। इस दौरान किसान वहीं पटरी पर बैठ गए और गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग करने लगे। मोदीनगर में काफी देरतक किसानों का प्रदर्शन चलता रहा। वहीं लोनी में ट्रेन रोकने जा रहे भारतीय किसान यूनियन के युवा के प्रदेश अध्यक्ष पंडित सचिन शर्मा को पुलिस ने नजरबंद कर दिया। लोनी स्टेशन पर सीओ लोनी अतुल कुमार सोनकर व जीआरपी के जवानों ने मोर्चा संभालते हुए किसानों को स्टेशन तक नहीं पहुंचने दिया।
सीओ लोनी ने अपनी मौजूदगी में ट्रेनों को स्टेशन से बिना किसी गतिरोध के पास कराया। वहीं मसूरी हॉल्ट पर भारतीय किसान संगठन के पदाधिकारी ट्रेन रोकने पहुंचते, इससे पूर्व ही मसूरी एसएचओ ने सभी को बीच रास्ते में रोक लिया और वहीं पर किसानों से ज्ञापन लेकर वापस भेज दिया। यहां भी किसान रेलवे लाइन तक नहीं पहुंच सके। गाजियाबाद पुराना रेलवे स्टेशन पर सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह, सीओ सदर केे साथ ही आरपीएफ प्रभारी पीजीकेयू नायडू व जीआरपी प्रभारी ने मोर्चा संभाला। आंदोलन को देखते हुए पहले से रेलवे रोड से लेकर स्टेशन परिसर तक भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया। हालांकि, पुराना रेलवे स्टेशन पर कोई प्रदर्शनकारी नहीं पहुंचा।
नया गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर भी फोर्स तैनात किया गया लेकिन यहां भी कोई अधिकारी नहीं पहुंच सका। एकमात्र मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर ही किसान पहुंचने में सफल हो सके और वहां प्रदर्शन भी किया। भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि यह प्रदर्शन लखीमपुर खीरी घटना में मारे गए किसानों को न्याय दिलाने और ग्रह राज्यमंत्री की बर्खास्तगी को लेकर है। राकेश टिकैत ने कहा कि पद पर रहते हुए इस मामले में किसानों को न्याय नहीं मिल सकेगा। अगर सरकार निष्पक्ष जांच की बात कह रही है तो वह फिर मंत्री को बर्खास्त करे और उसकी गिरफ्तारी करे। राकेश टिकैत ने कहा कि शाम चार बजे तक किसान जगह-जगह रेल रोक कर प्रदर्शन करेंगे। वहीं एडीएम सिटी विपिन कुमार ने बताया कि प्रदर्शन को देखते हुए जिले में सभी एसीएम और एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण के लिए तैनात किया गया है। मोदीनगर के अलावा किसान कहीं ओर स्टेशन पर नहीं पहुंच सके हैं। यहां भी किसानों ने मालगाड़ी रोक कर करीब एक घंटे तक प्रदर्शन किया और एसडीएम मोदीनगर को ज्ञापन देकर स्टेशन से चले गए।