युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पिछले काफी समय से चल रहे किसान आंदोलन को देखते हुए शासन ने पुलिस के २० आला अधिकारियों को ऐसे जिले आवंटित किये हैं जहां पर किसान आंदोलन चल रहा है। अभी हाल ही में लखीमपुर खीरी में हुए सनसनीखेज प्रकरण को देखते हुए शासन ने यह कदम उठाया है। इस क्रम में शासन ने जहां मेरठ जोन के एडीजी राजीव सब्बरवाल को मेरठ में चल रहे किसान आंदोलन पर नजर रखने की जिम्मेदारी सौंपी है वहीं आईजी प्रवीण कुमार को जिला गाजियाबाद की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके अलावा डीजी/एडीजी एस एन रावत व आईजी लक्ष्मी सिंह लखनऊ को खीरी, बरेली जोन के एडीजी अविनाश चंद्र को बरेली, गोरखपुर जोन के एडीजी अखिल कुमार, आईजी देवीपाटन राकेश सिंह व उपसेनानायक आठवीं वाहिनी पीएसी आशुतोष शुक्ला को बहराइच, आईजी रेलवे लखनऊ सत्येंद्र कुमार सिंह को शामली, आईजी रमित शर्मा, डायल ११२ के एसपी अजयपाल शर्मा व डीजीपी कार्यालय में तैनात एएसपी अनिल कुमार झा को पीलीभीत, आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल को मुजफ्फरनगर, डीआईजी विजिलेंस लखनऊ एलआर कुमार को अमरोहा, डीआईजी वूमेन पॉवर १०९० लखनऊ रविशंकर छवि व उपसेनानायक २७वीं पीएसी सीतापुर रामसुरेश को शाहजहांपुर, मुरादाबाद रेंज के डीआईजी शलभ माथुर को मुरादाबाद, डीआईजी पीएसी कानपुर अनुभाग रामलाल वर्मा व उपसेनानायक ३८वीं वाहिनी पीएसी अलीगढ़ हरेंद्र कुमार को बिजनौर और २०वीं वाहिनी पीएसी आजमगढ़ अरूण कुमार दीक्षित को रामपुर की जिम्मेदारी सौंपी है।