गाजियाबाद (युग करवट)। भारतीय किसान यूनियन टिकैत के आहवाहन पर आज जिला संगठन ने जिला मुख्यालय का घेराव किया। सुबह से ही किसानों को जिला मुख्यालय पहुंचना शुरू हो गया था। ट्रेक्टर-टॉली में किसानों के दल जिले के विभिन्न गांवों से धरना स्थल पर पहुंचे। संगठन के जिलाध्यक्ष चौधरी विजेन्द्र सिंह ने कहा कि आज किसानों को अपनी मांगे मनवाने के लिए आंदोलन करना पड रहा है। सरकार सिर्फ वार्ता ही कर रही है लेकिन किसानों की समस्याओं का कोई हल निकालने को तैयार नहीं है। सरकार एमएसपी पर कोई ठोस निर्णय नहीं ले रही है। किसानों पर झूठे मुकदमे लगाकर उन्हें फंसाया जा रहा है। जिसे भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसानों ने जिला मुख्यालय का घेराव किया और विकास भवन के पार्क में धरना देकर बैठ गए। किसानों ने धरनास्थल पर ही खाना भी बनाया। किसानों का कहना है कि वह दिन भर आंदोलन में शामिल रहेंगे। ऐसे में वहीं बैठकर खाना बनाकर विरोध जताएंगे। किसानों ने डीएम के माध्यम से राष्टï्रपति के नाम १५ सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन भी सौंपा। किसानों की मुख्य मांग,मंहगाई पर नियंत्रण, मूल्या व्रद्घि पर नियंत्रण, रेलवे में वरिष्ठ नागरिकों की राहत बहाल, खाद्य सुरक्षा की गांरटी और सार्वजनिक वितरण प्रणाली को सार्वाभौमिक बनाना, निशुल्क शिक्षा, स्वास्थ्य और पानी की गांरटी, वन अधिकार नियम का कडाई से पालन, बिजली संशोधन विधेयकको वापस लेने, केन्द्र सरकार के लिखित आश्वासन को पूरा करना सहित मांगे रखीं। प्रदर्शन में चौधरी विजेन्द सिंह, जयमलिक, शमशेर राणा, सचिन, हरेन्द्र, राजवीर, महेन्द्र आदि दर्जनों किसान शामिल हुए। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए जिला मुख्यालय में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया था। एसीपी कविनगर अभिषेक कुमार ने संभाल रखी थी। किसानों को रोड पर वाहन तक खडे नहीं करने दिए गए। धरनास्थल पर भी बडी संख्या में फोर्स मौजूद रहा।