युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मेरठ, गाजियाबाद, आगरा व प्रयागराज में से किन दो जिलों में बनेगी कमिश्नरेट, इस विषय पर ब्यूरोक्रेट से लेकर जनपदवासियों में चर्चा शुरू हो गई है। यह चर्चा उस समय हुई जब पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों से लेकर आमजन को यह पता चला कि यूपी सरकार शीघ्र ही मेरठ, गाजियाबाद, आगरा व प्रयागराज में से दो जिलों में कमिश्नरेट प्रणाली शुरू करने जा रही है। बहरहाल, सरकार किन दो जनपदों में कमिश्नरेट प्रणाली शुरू करेगी, इसका पता तो इस माह के अंत तक ही चल पायेगा लेकिन हाल फिलहाल हो रही चर्चा में अधिकांश अधिकारी व प्रबुद्घ लोग यह कहते दिखाई दिए कि अगर सरकार ने दो और जिलों में कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया तो वह जिले आगरा व प्रयागराज हो सकते हैं। खैर चर्चा का क्या है, किन दो जिलों में कमिश्नरेट सिस्टम लागू होगा, यह तो शासन स्तर पर चल रही प्लानिंग के बाद ही पता चल पायेगा। सूत्रों की मानें तो यूपी में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार विधानसभा चुनाव से पहले दो और जनपदों में कमिश्नरेट बनाने की प्लानिंग कर रही है। कमिश्नरेट सिस्टम को लागू करने के लिये शासन ने जिन चार जिलों का चयन किया है, उनमें मेरठ, गाजियाबाद, आगरा व प्रयागराज हैं। सूत्रों की मानें तो इस माह की २२ तारीख को इन चार जनपदों में से किन्हीं दो में कमिश्नरेट सिस्टम लागू करने की घोषणा पीएम नरेंद्र मोदी इस तिथि में होने वाली डीजीपी की कांफें्रस में कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि इस प्लानिंग के बाद शासन स्तर पर तेजी के साथ कवायद शुरू हो गई है।