युगकरवट की खबर का असर

सुरेश चौधरी
नोएडा (युगकरवट)। ग्रेटर नोएडा की एक सोसाइटी में रखे गए काला धन व सोना चोरी करने के मामले में थाना सेक्टर 39 पुलिस ने शुक्रवार दोपहर को 5 लोगों को हिरासत मे लिया है। पुलिस ने इनके पास से करीब 11 किलो सोना तथा एक करोड़ से ज्यादा की नकदी बरामद की है। खबर लिखे जाने तक पुलिस के आला अधिकारी गिरफ्तार बदमाशों से गहनता से पूछताछ कर रहे हैं। पूछताछ के दौरान पुलिस को कई चौंकाने वाले तथ्य पता चला है। बताया जाता है कि जिस फ्लैट में चोरी हुई थी वहां पर 35 करोड़ से ज्यादा की नकदी व भारी मात्रा में सोना रखा था । इन चोरों ने करीब 6 करोड़ रुपए की नगदी व 24 किलो के आसपास सोना चोरी किया, उसके बाद अगली बार चोरी करने की नियत से वहां रखी नगदी व सोना छोड़कर चले आए। चोरों द्वारा छोड़ी गई नगदी तथा सोना उक्त फ्लैट की रखवाली करने वाला नौकर लेकर फरार हो गया है। इस मामले में फ्लैट के मालिक ने अभी तक पुलिस से कोई शिकायत नहीं की है। बताया जाता है कि काला धन छुपाने के लिए प्रभावशाली व्यक्ति इस मामले की शिकायत करना नहीं चाह रहा है। वह अपने आकाओं की मदद से पुलिस पर इस मामले को दबाने का दबाव बना रहा है।
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्रेटर नोएडा के सिल्वर सिटी स्थित एक फ्लैट में करीब 7 माह पहले चोरी हुई थी। चोरों ने फ्लैट में रखे करीब 24 किलो सोना तथा 6 करोड रुपए से ज्यादा की नकदी चोरी की। इसके बाद चोर फ्लैट में रखी करोड़ों की नकदी व सोना छोड़ कर चले गए। बताया जाता है कि फ्लैट की रखवाली के लिए वहां मौजूद एक अन्य नौकर ने इस चोरी का फायदा उठाया तथा फ्लैट में रखा करोड़ो का काला धन व सोना लेकर फरार हो गया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि सात माह पूर्व हुई इस चोरी में नोएडा और गाजियाबाद के रहने वाले चोर शामिल थे। चोरों ने धन व सोने का बंटवारा कर लिया। कुछ सोना व धन मामले को दबाने के लिए पुलिस व वकील को देने के लिए रखा गया था। जब काफी दिनों तक इस मामले में कोई हलचल नहीं हुई तो रखे गए धन मोर सोना के बंटवारे को लेकर नोएडा के सलारपुर तथा गाजियाबाद में रहने वाले चोरों के बीच आपस में विवाद हो गया। चोरों के बीच हुए विवाद के चलते सूचना पुलिस तक पहुंची, तथा थाना सेक्टर 39 पुलिस ने शुक्रवार दोपहर को इस मामले में कार्रवाई करते हुए 5 चोरों को हिरासत मे ले लिया है। हिरासत में लिए गए चोरों के नाम अरुण,राजन, जय सिंह नीरज तथा पिंटू शर्मा है। इनके 5 साथी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। बताया जाता है कि हिरासत में लिए गए बदमाशों के पास से पुलिस ने करीब 11 किलो सोना तथा एक करोड़ से ज्यादा की नकदी बरामद की है। पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि जिस व्यक्ति के घर से यह काला धन व सोना चोरी हुआ था, वह कौन है। वह व्यक्ति घटना के समय से ही पुलिस से छुपा हुआ घूम रहा है। घटना के सात माह होने के बावजूद भी उक्त व्यक्ति ने इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि सलारपुर में रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर ने ग्रेटर नोएडा स्थित सोसायटी के फ्लैट को एक महिला को किराए पर दिलवाया था। प्रॉपर्टी डीलर की दुकान पर ही यह चर्चा चली की महिला व उसका पति वहां पर काला धन रखते है। प्रॉपर्टी डीलर की दुकान करने वाले युवक के भाई पिंटू शर्मा, नीरज, जयसिंह,राजन, अरुण व गाजियाबाद के रहने वाले कुछ बदमाशों ने मिलकर इस चोरी को अंजाम देने की योजना बनाई तथा 7 माह पूर्व घटना को अंजाम दिया। पुलिस सूत्र बताते हैं कि घटना के बाद वहां से चोरी की गई रकम तथा सोने को बराबर बराबर आपस में बांट लिया गया। कुछ सोना व नकदी एक जगह रखा थी। जिसके बंटवारे को लेकर गाजियाबाद के रहने वाले बदमाशो तथा नोएडा के सलारपुर में रहने वाले चोरों के बीच आपस में विवाद हुआ। इसके बाद यह मामला किसी तरह से पुलिस के मुखबिरो तक पहुंचा, तथा पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आज 5 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस के आला अधिकारी हिरासत में लिए गए चोरो से गहनता से पूछताछ कर रहे हैं। इस बाबत पूछने पर अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि आरोपियों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। इनसे बरामद भारी मात्रा में सोना व काला धन किस व्यक्ति के घर से चोरी हुआ है, यह जानने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिस व्यक्ति के घर से काला धन चोरी हुआ है, उसके बारे में भी पुलिस विस्तृत जांच कर रही है। वह कौन है यह पता लगाकर उचित एजेंसियों को इस मामले की सूचना दी जाएगी।