युग करवट संवाददाता
लखनऊ। कोरोना संक्रमण से बचाने वाली जीवनदायिनी दवाओं व आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी करने वाले अपराधियों पर शिंकजा कसने के लिए शासन ने कई अभियान चला रखे हैं। अब इन अभियानों को और अधिक सटीक बनाने और कालाबाजारी करने वाले अपराधियों की नाक में नकेल कसने के लिए शासन ने यह ऐलान भी कर दिया है कि जो भी जीवनदायिनी दवाओं व आवयश्क वस्तुओं की कालाबाजारी करता पाया जायेगा, उसके खिलाफ संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करके सख्त कार्रवाई भी की जायेगी। इस बारे में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि कालाबाजारियों पर एनएसए यानि रासुका भी लगाई जायेगी।
श्री कुमार ने बताया कि अब तक कालाबाजिारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई के तहत लगभग सवा सौ अभियुक्तों को गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है। इस कार्रवाई के दौरान पुलिस द्वारा कोरोना संक्रमित मरीज की जान बचाने में सहायक रेमडेसीवर व अक्टेमरा जैसे 282 इंजेक्शन, १२६३ ऑक्सीजन सिलेंडर, ८१८ ऑक्सीमीटर और 53 लाख की नगदी सहित अन्य सामग्री बरामद की जा चुकी है। श्री कुमार ने बताया कि जो दवा, सिलेंडर व उपकरण बरामद हुए हैं, उन्हें जनहित में होने वाले प्रयोग के लिए अदालत से रिलीज़ करवाने की त्वरित कार्रवाई भी की जा रही है। बता दें कि कालाबाजारियों के खिलाफ कार्रवाई करने में गाजियाबाद पुलिस का भी विशेष योगदान रहा है।