प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। लखनऊ नगर निगम के बाद आज गाजियाबाद नगर निगम में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। आज सुबह करीब 11 बजे से शुरू हुई इस कार्यशाला की अध्यक्षता नगर आयुक्त विक्रमादित्य मलिक ने की। कार्यशाला में नगर निगम गाजियाबाद के चीफ इंजीनियर एनके चौधरी, अधिशासी अभियंता देशराज सिंह, ए,एफजैड जैदी, एकाउंट अफसर गीता कुमारी, अपर नगर आयुक्त अरूण कुमार यादव, पशु कल्याण विभाग और एकाउंट विभाग के अलावा टैक्स विभाग के अधिकारियों ने इस बैठक में हिस्सा लिया। इनके अलावा नगर निगम गाजियाबाद के अलावा नगर निगम सहारनपुर की ओर से एसके सिन्हा, मुरादाबाद निगम की ओर राजीव कुमार, मथुरा-वृंदावन नगर निगम की ओर से एस रस्तौगी तथा आगरा और फिरोजाबाद, अलीगढ़ तथा बेरली नगर निगम की ओर से कई अधिकारियों ने कार्यशाला में हिस्सा लिया।
कार्यशाला में शासन की ओर से एक एक्सपर्ट की टीम आई है। एक्सपर्ट की टीम ने पर्यावरण संरक्षण, सिविल विकास कार्य, हेल्थ और लेखा तथा वित्त से संबंधित विकास कार्यों पर चर्चा की। इस कार्यशाला में जनाग्रह संस्था की ओर से महक श्रीवास्तव आदि भी मौजूद रहे। कार्यशाला सुबह करीब 11 बजे से शुरू हुई। लगातार कई घंटे तक कार्यशाला का आयोजन हुआ। इस कार्यशाला में वित्तीय प्रबंधन और डिवेलपमेंट के लिए वास्तविक बजट पर जोर दिया गया। ताकी ताकी शहर में विकास को और गति देने के लिए यह नया प्रयास है। इससे पहले पांच अगस्त को इसी तरह की एक कार्यशाला लखनऊ नगर निगम में हो चुकी है। इस कार्यशाला में जिन नगर निगमों ने प्रतिभाग लिया इनमें लखनऊ नगर निगम के अधिकारियों के अलावा नगर निगम कानपुर, शाहजहांपुर, अयोध्या, गोरखपुर, वाराणसी , प्रयागराज और झांसी के निगम अधिकारी मौजूद रहे।