युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। बीती रात ट्रोनिका सिटी थाने की राम पार्क चौकी क्षेत्र में पडऩे वाली कासिम विहार कॉलोनी में हुई सनसनीखेज एवं दिल दहला देने वाली वारदात के दौरान बदमाशों ने कारोबारी एवं उसके अबोध पुत्र की धारदार हथियार से नृशंस हत्या कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हत्यारों ने निर्दयता की पराकाष्ठा को पार करते हुए पहले तो दोनों पिता-पुत्र के गले रेते और फिर दोनों के शरीर पर चाकू से कई वार कर उनके अंग भी बाहर निकाल दिए। पुलिस के मुताबिक, आधी रात के बाद हत्या करने के बाद बदमाश/हत्यारे घटनास्थल से चले गये। आज सुबह पिता पुत्र की नृशंस हत्या की सूचना मिलते ही जहां क्षेत्र में दहशत का माहौल कायम हो गया वहीं पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एक साथ हुई दो-दो हत्या की सूचना मिलते ही एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा व सीओ लोनी अतुल कुमार सोनकर सहित पुलिस के कई और आला अफसरों ने पुलिस की कई विंग्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी। इस संदर्भ में एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा का कहना है कि प्रथम दृष्टïया यह मामला लूट का ना होकर कारोबारी ३५ वर्षीय नईमुल हसन और उसके ७-८ वर्षीय पुत्र उवेश की हत्या का लग रहा है। श्री राजा ने बताया कि इस सनसनीखेज वारदात के खुलासे के लिए जहां पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं वहीं पुलिस कई ऐंग्ल पर जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि इस वारदात का खुलासा शीघ्र कर दिया जायेगा। श्री राजा का कहना है कि जिस प्रकार नईमुल हसन और उनके पुत्र उवेश की हत्या की गई है, उससे यही दिखाई दे रहा है कि जिसने भी उन दोनों की नृशंस हत्या की, कारोबारी से बहुत नफरत करता होगा।
श्री राजा ने बताया कि जिस कारोबारी की हत्या हुई है, उसका नाम नईमुल हसन था। वह फर्नीचर बनाने का काम करता था। तीन दिन पूर्व उसकी पत्नी सात वर्षीय पुत्र को नईमुल हसन के पास छोड़कर अन्य बच्चों के साथ अपने मायके चली गई थी। आज सुबह मृतक का भतीजा अरबाज जब अपने चाचा को हैल्मेट देने उसके घर पहुंचा तो उसने देखा कि चाचा के मकान का दरवाजा खुला हुआ है और घर के अंदर नईमुल हसन और उवेश के रक्तरंजित शव बैड पर पड़े हुए हैं। इसके बाद उसने शोर मचाकर मौहल्ले वालों को एकत्रित कर लिया और लोगों ने डबल मर्डर की सूचना पुलिस को दे दी।