युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। दिल्ली के अजमेरी गेट में मोटर पंप का कारोबार करने वाले हरकेश लूथरा नामक कारोबारी के ई-ब्लॉक प्रताप विहार की कोठी पर शादी का कार्ड भेजकर कारोबारी व उनके पुत्र की हत्या की धमकी देने व लाखों की फिरौती मांगने वाले गैंग के चार शातिर बदमाशों को विजयनगर थाना पुलिस ने क्राइम ब्रांच के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये बदमाशों के पास से ३२ बोर की पिस्टल व कारतूसों की खेप के अलावा अन्य सामान बरामद हुए।
इस संदर्भ में एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने बताया कि पांच मई को हरकेश लूथरा नामक व्यवसायी ने विजयनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए पुलिस को बताया था कि कोई गैंग अथवा बदमाश शादी के कार्ड में धमकी के कई पत्र भेजकर उनकी व उनके पुत्र सहित अन्य परिजनों की हत्या की धमकी उन्हें दे चुका है। कार्ड भेजने वाले बदमाशों ने खुद को कुख्यात गैंग का अपराधी बताकर उन्हें धमकी दी है कि पहले तो वह दिल्ली का कारोबार बंद करके दिल्ली छोड़ दें और अगर जान बचानी है तो उन्हें २५ लाख की रकम फिरौती के रूप में दें। श्री अग्रवाल ने बताया कि एसएचओ थाना विजयनगर महावीर सिंह ने उक्त घटना को गंभीरता से लेते हुए धमकी देने वाले गैंग की सुरागरसी व गैंग पकडऩे की कवायद शुरू कर दी थी। उनकी इस कवायद को सफल बनाने के लिए क्राइम ब्रांच एवं सर्विलांस की टीम के अलावा कई और विंग्स भी उनका सहयोग कर रही थीं।
श्री अग्रवाल ने बताया कि पुलिस को उस समय सफलता मिली जब एसएचओ महावीर सिंह व क्राइम ब्रांच प्रभारी संजय पांडेय की टीम ने कारोबारी को धमकी देने वाले गैंग के चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये बदमाशों के नाम यशपाल सिंह निवासी ई-२१६ प्रताप विहार, सुनील बाली माधोपुरा, विकास त्यागी निवासी सुभाष नगर नन्दग्राम और सूरज कुमार निवासी सेक्टर-२ वसुंधरा इंदिरापुरम हैं। पूछताछ के दौरान इस वारदात का खाका तैयार करने वाले यशपाल ने बताया कि कारोबारी उसका दोस्त है और काफी डरपोक भी है। इसका फायदा उठाके अपने पड़ोसी कारोबारी से मोटी रकम ऐंठने के लिए उसने यह साजिश रची। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।