प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। नगर निगम के वार्ड नंबर 83 को आज नई पार्षद कुसुम मिल गई। मेयर आशा शर्मा और नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर आदि अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे। शपथ समारोह आज 11 बजे मेयर आशा शर्मा ऑफिस में आयोजित किया गया। निगम संविधान के अनुसार पार्षदों को शपथ दिलवाने का संवैधानिक अधिकार मेयर आशा शर्मा को है। इसी अधिकार का उपयोग करते हुए मेयर ने आज नगर निगम स्थित अपने ऑफिस में कुसुम को शपथ दिलाई। इस दौरान उनके पति एसपी सिंह भी मौजूद रहे। हाल ही में कोर्ट के एक फैसले के बाद कुसुम को वार्ड 83 से पार्षद निर्वाचित घोषित किया गया है। इससे पहले इस वार्ड से पार्षद आशुतोष शर्मा को विजयी घोषित किया गया था। उन्हें चुनाव के दौरान सबसे अधिक वोट मिले थे। इसके बाद दूसरे नंबर पर कुसुम दूसरे नंबर पर रही थी।
बाद में कुसुम की ओर से आरोप लगाया गया कि पार्षद घोषित शर्मा के चुनाव को कोर्ट में चुनौती दी । कुसुम का कहना था कि बीजेपी पार्षद को शर्मा को गलत तरीके से निर्वाचित घोषित किया गया है। उनका कहना था कि शर्मा का गाजियाबाद के अलावा दिल्ली से भी वोट बना है। नियम है कि एक व्यक्ति के दो स्थानों पर वोट नहीं हो सकते है।
इसी आधार पर कोर्ट ने शर्मा का निर्वाचन रद्द किया है। अब कुसुम पार्षद बनी है। कुसुम का कहना है कि उन्हें जो समय मिला है उसमें वह वार्ड में अधिक से अधिक विकास कार्य कराएंगी।