युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जीत हासिल करने को लेकर गाजियाबाद में भाजपा कांफिडेंस से लबालब भरी हुई हैं। महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा का कहना है कि यह चुनाव राजनीतिक एंजेडे या पार्टी के सिद्घांतों से ज्यादा बढ़कर व्यक्तिगत संबंधों पर आधारित है। भाजपा प्रत्याशी को आठ से ज्यादा सदस्यों का समर्थन हासिल होगा। पार्टी जीत के प्रति पूरी तरह आश्वस्त है। यह पूछे जाने पर कि पार्टी के पास दो सदस्य है और एक निर्दलीय सदस्य का समर्थन हासिल है। ऐसे में पांच अन्य सदस्य कहां से लाएंगे, संजीव शर्मा ने कहा कि चुनाव नतीजों के बाद लोगों को पता चल जाएगा कि भाजपा प्रत्याशी को किसने समर्थन किया। उन्होंने कहा कि पूरी तरह कांफिडेंस के साथ कहा जा सकता है कि ममता त्यागी ही जिला पंचायत अध्यक्ष होंगी। भाजपा ने पूर्व जिलाध्यक्ष बसंत त्यागी की पत्नी ममता त्यागी को जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्याशी घोषित किया है। उनकी ओर से नामांकन पत्र खरीद लिया गया। संजीव शर्मा ने कहा कि शनिवार को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत ममता त्यागी अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। गाजियाबाद में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव गणित के हिसाब से काफी रोचक हो गया है। सपा और रालोद के पास तीन तीन सदस्य है। जबकि बसपा के पास पांच सदस्य है। और भाजपा के पास दो सदस्य। इस चुनाव में सपा और रालोद के बीच गठबंधन हो गया है।
इस गठबंधन की ओर से धौलाना के विधायक असलम चौधरी की पत्नी नसीम चौधरी को प्रत्याशी घोषित किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जीत के लिए भाजपा पूरी तरह आश्वस्त है।