नई दिल्ली। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर जल्द कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। पार्टी के ज्यादातर नेता उन्हें पार्टी में शामिल करने में पक्ष में हैं। उनके विधानसभा और लोकसभा चुनाव की रणनीति की कार्ययोजना का अध्यन करने के लिए गठित समिति ने पार्टी अध्यक्ष को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में उनको पार्टी में शामिल करने पर सहमति जताते हुए पार्टी नेताओं ने कहा कि उन्हें दूसरे राजनीतिक दलों से खुद को अलग करना होगा।
पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रशांत किशोर कई राजनीतिक दलों के साथ काम कर रहे हैं। इनमें तृणमूल कांग्रेस और तेलंगाना राष्ट्र समिति शामिल हैं। हम चाहते हैं कि वह दूसरे दलों से खुद को अलग कर पूरी तरह सिर्फ कांग्रेस के लए काम करें। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी जल्द इसका औपचारिक ऐलान कर सकती हैं। पार्टी के अंदर उनकी भूमिका कांग्रेस अध्यक्ष और राहुल गांधी के साथ चर्चा के बाद तय की जाएगी। प्रशांत ने भी अपनी तरफ से कुछ मांग रखी है। वह अपनी कार्ययोजना को लागू करने के लिए फ्री हैंड चाहते हैं। पार्टी के एक नेता ने कहा कि प्रशांत सिर्फ कांग्रेस अध्यक्ष को रिपोर्ट करना चाहते हैं। इसके साथ वह चुनावी राज्यों में रणनीति को लागू करने के लिए जरूरी अधिकार भी चाहते हैं। अंतिम फैसला इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा।