वरिष्ठ संवाददाता
गाजियाबाद(युग करवट)। कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता डौली शर्मा को ट्वीटर पर पाकिस्तान के करांची से जान से मारने की धमकी मिली थी। मामला संज्ञान में आने पर डौली शर्मा ने थाना लिंकरोड में शिकायत दर्ज कराई थी। इस मामले में कांग्रेसियों का एक प्रतिनिधिमंडल आज एसएसपी मुनिराज से मिला। डौली शर्मा के पिता एवं पूर्व महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि एसएसपी ने इस मामले की जांच साइबर क्राइम सैल से कराने और सुरक्षा मुहैया कराने का आश्वासन डौली शर्मा को दिया है। डौली शर्मा गाजियाबाद से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा और महापौर का चुनाव भी लड़ चुकी हैं और लिंकरोड थाना क्षेत्र के सूर्यनगर की स्थाई निवासी हैं। कांग्रसी नेत्री का कहना है दिल्ली उच्च न्यायालय के अधिवक्ता गिरीश सरोवा उनसे मिलने उनके पिता नरेन्द्र भारद्वाज के वसुंधरा स्थित आवास पर आए थे। इस मुलाकात की एक फोटो ट्वीटर पर साझा की गई थी। इसी पर टिप्पणी करते हुए और मुझे टैग करते हुए विदेशी ट्वीटर आईडी जाकि राव काशिफ तहसीन करांची के नाम पर है अभद्रतापूर्वक एके ४७ से उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई। कांग्रेसियों के प्रतिनिधिमंडल की मांग थी कि संबंधित व्यक्ति के खिलाफ इंटरपोट से सख्त से सख्त कारवाई कराई जाए। ताकि, जान एवं माल की सुरक्षा सुनिश्चत हो सके। साथ ही डौली शर्मा के अवास और भ्रमण के दौरान सुरक्षा भी मुहैया कराई जाए। इस मामले में प्रतिनिधिमंडल के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंचे डौली शर्मा के पिता एवं पूर्व महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र भारद्वाज का कहना है कि एसएसपी मुनिराज ने उनकी बातें सुनीं और मामले की जांच साइबर क्राइम सेल से कराए जाने का आश्वासन दिया है। साथ ही सुरक्षा मुहैया कराए जाने की बात भी एसएसपी ने कही है। प्रतिनिधिमंडल में जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव, प्रदेश महासचिव डॉ. संजीव शर्मा, प्रदेश सचिव वीर सिंह चौधरी, पूर्व मेयर प्रत्याशी विजय चौधरी, यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विकास खारी, जगत बिष्ट, कपिल यादव, जितेन्द्र गौड़, मुनिन्द्र बिल्ला आदि कांग्रेसी मौजूद रहे।