गाजियाबाद (युग करवट)। तहसील बार एसोसिएशन के बैनर तले सदर तहसील में चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल का आज ११वां दिन है। धीरे-धीरे राजनीतिक दल भी तहसील बार एसोसिएशन की हड़ताल में समर्थन देने के लिए लामबंद हो रहे हैं। इसी क्रम में आज कांग्रेस ने सदर तहसील में पहुंचकर हड़ताल के समर्थन का ऐलान किया। जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव ने कांग्रेस की ओर से समर्थन पत्र तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा और सचिव विकास त्यागी को सौंपा। गौरतलब है कि पॉवर ऑफ अटार्नी पर रोक लगाए जाने और अधिवक्ताओं को उत्तर प्रदेश सरकार की प्रमुख सचिव स्टांप वीना कुमारी द्वारा संगठित गिरोह बताए जाने पर अधिवक्ता और बैनामा लेखक हड़ताल पर हैं। आज कांग्रेस के जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव और प्रदेश सचिव नसीम खान तमाम कांग्रेसियों के साथ धरनास्थल पर पहुंचे और हड़ताल को कांग्रेस की ओर से समर्थन देने का ऐलान किया। जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार तानाशाही पर उतर आई है। यही कारण है कि अधिवक्ताओं को संगठित गिरोह कहकर संबोधित किया जा रहा है। उन्होंने ऐलान किया कि अधिवक्ताओं और बैनामा लेखकों की लड़ाई में कांग्रेस कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ खड़ी है। इस दौरान पीसीसी सदस्य सुरेन्द्र शर्मा, जिला सचिव राजेन्द्र शर्मा, लक्ष्मी वर्मा आदि कांग्रेसी भी मौजूद रहे। उधर, संयुक्त व्यापार मंडल ने भी आज अधिवक्ताओं की हड़ताल को समर्थन दिया। व्यापारी नेता अरविंद तेवतिया और नरेन्द्र गुप्ता नंदी ने धरनास्थल पर पहुंचकर व्यापारियों की ओर से इस लड़ाई में अधिवक्ताओं के समर्थन का ऐलान किया। इस दौरान सैंकड़ों की संख्या में अधिवक्ता एवं बैनामा लेखक मौजूद रहे।