युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। अगले महीने से कांग्रेस मिशन-2022 की ओर तेजी से कदम बढ़ाने जा रही है। इसके लिए कल जूम-एप पर हुई बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पार्टी के संगठन को विशेष दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। अगले महीने 9 अगस्त से लेकर 9 सितंबर तक के लिए उन्होंने कांग्रेस के संगठन को टॉस्क भी दे दिया है। प्रदेश हाईकमान की ओर से यह भी साफ कर दिया गया है कि पार्टी के अभियान में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
कांग्रेस के जिलाध्यक्ष बिजेंद्र्र यादव ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में सबसे बड़ा मुद्दा महंगाई का है। कोरोना से त्रस्त हो चुकी प्रदेश की जनता पर महंगाई की दोहरी मार पड़ रही है। पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। केंद्र और प्रदेश की सरकार तेल की कीमतों पर काबू पाने में पूरी तरह विफल साबित हो रही है। पेट्रोल और डीजल के दाम बढऩे का असर दैनिक उपयोग की सभी वस्तुओं पर पड़ रहा है और दाम आसमान छू रहे हैं। खाद्य तेल खरीदने में लोगों के पसीने छूट रहे हैं। खासकर, महिलाओं का रसोई चलाना दूभर हो गया है।
रसोई में हर रोज उपयोग होने वाली सब्जियां तक लोगों की पहुंच से दूर हो रही हैं। दाल और चीनी के दाम बेकाबू हो चले हैं। बिजेंद्र यादव ने बताया कि प्रदेश हाईकमान की ओर से मिले निर्देश के अनुसार कांग्रेस अगले महीने की 9, 10 और 11 तारीख को अलग ही अंदाज में महंगाई पर हल्ला बोलेगी। इस दौरान कांग्रेस के संगठन ग्रामीण क्षेत्रों में न्याय पंचायत से लेकर शहर में वार्ड स्तर पर मार्च निकालेंगे। महंगाई का विरोध करते हुए कांग्रेसी हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर अभियान के दौरान हॉट और बाजारों में मार्च निकालेंगे। कांग्रेस का मकसद महंगाई की मार के विरोध की आवाज लेकर जनता के बीच पहुंचना है। यह समझाना है कि किस प्रकार से केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार ने महंगाई के आगे घूटने टेक दिए हैं। ग्रामीण क्षेत्र की हॉट और शहरों के बाजारों में कांग्रसी जोरदार तरीके से महंगाई का विरोध करेंगे।
जिलाध्यक्ष ने बताया कि अगले ही दिन 12 अगस्त से अभियान का दूसरा चरण शुरू कर दिया जाएगा। इस अभियान में सभी न्याय पंचायतों को लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 9 अगस्त से 9 सितंबर तक चलने वाले इस अभियान के दौरान सभी गांवों में कांग्रेस के अध्यक्ष नियुक्त किए जाएंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में कांग्रेस के अध्यक्ष अपनी कमेटियां बनाकर पार्टी की योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जानकारी देंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को उजागर करेंगे। न्याय पंचायत स्तर पर चलाए जाने वाले अभियान में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को भी प्रभारी बनाकर भेजा जाएगा। उन्हें भी इस दौरान अपने अनुभव के आधार पर पार्टी को मजबूत करने में अपनी ताकत झोंकनी होगी।

फ्रंटल संगठनों को भी दिखानी होगी ताकत
गाजियाबाद। कांग्रेस द्वारा अगले महीने की 9 तारीख से चलाए जाने वाले इस अभियान में कांग्रेस के सभी फ्रंटल संगठनों को अपनी ताकत झोंकनी होगी। यानि, यूथ कांग्रेस, एनएसयूआई, महिला कांग्रेस, कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग, कांग्रेस का पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ, अल्पसंख्यक कांग्रेस, कांग्रेस सेवादल, विधि विभाग आदि फ्रंटल संगठनों को पूरी ताकत के साथ मुख्य संगठन के साथ अभियान में हिस्सा लेना होगा। जिलाध्यक्ष बिजेंद्र यादव ने बताया कि इस दौरान कोई फ्रंटल संगठन काम नहीं कर पाता है तो प्रभारी उसकी रिपोर्ट बनाकर हाईकमान को भेजेंगे। रिपोर्ट के आधार पर फ्रंटल संगठन पर एक्शन भी लिया जाएगा।