नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। दो दिन पहले ही मुरादनगर के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में एक साथ तीन दर्जन से अधिक छात्राओं के बीमार होने से हडक़म्प मच गया था। छात्राओं को अस्पतालों में भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। छात्राएं किस वजह से बीमार हुई इसको लेकर पानी और खाद्य पदार्थ के नमूने लिए गए थे, जिसमें पानी के दो सैम्पल जांच रिपोर्ट में फेल पाए गए हैं। हैरानी की बात यह है कि छात्राओं के लिए बाहर से मंगाए जा रहे बोतलबंद पानी का नमूना भी फेल पाया गया है। साथ ही जिस हैंडपम्प का पानी इस्तेमाल हो रहा था उसका नमूना भी जांच में फेल रहा। इस घटना के बाद जब स्कूल में जांच की गई तो आरओ खराब पाया गया, जिसकी वजह से छात्राओं के लिए बोतलबंद पानी बाहर से मंगाया जा रहा है। छात्राओं ने हैंडपम्प के पानी की भी शिकायत की थी। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. आरके गुप्ता ने बताया कि पानी के दो सैम्पल फेल पाए गए हैं, जिसमें एक पानी की टंकी का नमूना था और दूसरा बोतलबंद पानी का था। अब रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी। जिस कम्पनी का पानी सप्लाई किया जा रहा था, उसकी भी जांच की जाएगी। इस मामले में डीएम आरके सिंह द्वारा गठित जांच टीम १५ दिन में रिपोर्ट देगी।