नगर संवाददाता
गाजियाबाद। (युग करवट) आपत्तियों के निस्तारण के उपरांत जिले में छह साल बाद फिर से जमीनों के सर्किल रेट बढ़ गए हैं। बढ़े हुए सर्किल रेट की दरें कल से लागू हो जाएंगी। इसके उपरांत अब सभी नई रजिस्ट्रयां नई सर्किल दरों पर ही की जाएंगी। जिला प्रशासन द्वारा २८ जुलाई को प्रस्तावित नई सर्किल दर जारी की गई थी, जिसमें पर आपत्तियां मांगी गई थी। नए सर्किल आठ अगस्त के बाद से लागू किए जाने थे, लेकिन कुछ सर्किल दरों को लेकर आपत्तियों के निस्तारण में समय लगने की वजह से इसमें देर हुई है।
डीएम आरके सिंह ने बताया कि जिले में नई सर्किल दरें कल से लागू कर दी जाएंगी। प्रस्तावित सूची में जारी दरों में कोई खास फेरबदल नहीं हुआ है। कर्मिशयल एरिया में क्षेत्र के एवरेज के मुताबिक दस फीसदी तक की वृद्घि की गई है। बाकी सर्किल दरों में दस से १२ फीसदी तक की बढ़ोत्तरी की गई है। बता दें कि जिले में वर्ष २०१६ से सर्किल रेट नहीं बढ़ाए गए थे। जनपद आठ सर्किलों में बंटा हुआ है। इन सर्किल में कॉलोनियों की लोकेशन और आबादी के हिसाब से रेट तय किए जाते हैं। सर्किल रेट तीन श्रेणियों में तय है। पहला नौ मीटर चौड़ी रोड के किनारे, दूसरा नौ मीटर से १८ मीटर चौड़ी रोड के किनारे और तीसरा १८ मीटर से अधिक चौड़ी रोड के किनारे। सबसे अधिक रेट १८ मीटर से अधिक चौडी रोड के किनारे संपत्ति का होता है।
नई दरों में २०१७ के बाद बनी नई सडक़ों, कॉलोनियों व मार्केट के लिए भी सर्किल रेट तय किए गए हैं। अब नई सर्किल दर से जिले में जमीनों के भाव बढ़ जाएंगे। नई सर्किल दरों में दस से १२ फीसदी तक की बढ़ोत्तरी होने से जिले में संपत्तियां खरीदना और महंगा हो जाएगा। गाजियाबाद एनआईसी पर सर्किल रेट अपलोड किए गए हैं, ताकि वहां से सर्किल दरें देखी जा सकें। एडीएम वित्त ने बताया कि अंतिम सूची आठ अगस्त को जारी कर दी जाएगी। शहर में सबसे अधिक सर्किल रेट कौशांबी का है।
इसके बाद आवासीय क्षेत्रों में दूसरे नंबर पर वैशाली है। इस समय कौशांबी में 99000 रुपये प्रति वर्ग मीटर तक सर्किल रेट है। वहीं दिल्ली और एनएच से सटी कॉलोनियों के सर्किल रेट 73000 रुपए प्रति वर्ग मीटर तक हैं। पिछले पांच साल में रेट नहीं बढऩे पर करीब 260491 संपत्तियां बिकी हैं, जिनमें करीब 203931 फ्लैट और 56560 प्लॉट बिक शामिल हैं। इससे स्टांप विभाग को 6 हजार करोड़ से अधिक की आय हुई। कल से सर्किल रेट लागू हो जाने के उपरांत लोगों को अधिक रजिस्ट्री शुल्क देना होगा।

शहर के दस प्रमुख स्थानों में यह होगा नया सर्किल रेट
स्थान पुराना सर्किल रेट नया सर्किल रेट
कौशांबी 72000-99000 850000-113000
वैशाली 67500-74200 77000-85000
इंदिरापुरम 66500-73100 80000-84000
वसुंधरा 62000-68000 66000-78000
कविनगर 46000-52000 55200-62400
नेहरूनगर 43000-50000 51600-60000
बजरिया 72000 84000
क्रॉसिंग रिपब्लिक 19000-23000 22000-27000
राजनगर एक्सटेंशन 25000-27000 28000-31000
खोड़ा 22000 25000
डासना 12000 15000
गांधी नगर 120000 144000
अंबेडकर रोड 120000 144000
चौपला मंदिर 183000 195600
जीटी रोड 68000 81600
लिंक रोड 70000 84000
नोट- रेट प्रति वर्ग मीटर के मुताबिक हैं।