युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। टेंडर लेने के लिए अब निगम में मैन्युवल एफडीआर का चेप्टर क्लॉज होने जा रहा है। एक ही एफडीआर की कलर फोटो कॉपी लगाकर कई काम हथियाने वाले ठेकेदारों का अब निगम इलाज करने जा रहा है। इसके लिए निगम पहली बार ई-एफडीआर पॉलिसी को लागू करेगा। निगम की जांच में हाल ही में एफडीआर को लेकर एक नया खेल सामने आया था। इसके तहत नगर निगम में कई ठेकेदारों ने एफडीआर की कलर फोटो लगाकर एक एफडीआर के बूते पर कई करोड़ रुपये के 331 कार्य का टेंडर हथिया लिया।
प्रकरण तब सामने आया जब पता चला कि बिना एफडीआर लगाए कई कई करोड़ के टेंडर ठेकेदारों ने हथिया लिए है। ऐसे में अब नगर निगम एक नया प्लान तैयार कर रहा है। निगम प्रशासन की कोशिश है कि इस बार नगर निगम जल्दी ही नई एफडीआर पॉलिसी को लागू करने जा रहा है। इसके तहत नगर निगम अब हर कार्य के लिए ई-एफडीआर लेने के बाद ही ठेकेदारों को वर्क ऑर्डर जारी करेगा।