– एक मुख्य आरक्षी सहित पांच पुलिसकर्मियों को किया लाइन हाजिर –
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। डीआईजी/एसएसपी द्वारा भ्रष्टï एवं गैरजिम्मेदार अधिकारियों एवं पुलिसकर्मियों के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के तहत मसूरी थाने में तैनात इच्छाराम नामक दरोगा व मुख्य आरक्षी सतेंद्र मलिक को उन्होंने सस्पेंड कर दिया और उप निरीक्षक अनुराग सिंह व अंकित राठौर के अलावा मुख्य आरक्षी मुकेश कुमार समेत पांच पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया। सूत्रों की मानें तो जिन दरोगाओं व पुलिसकर्मियों को निलंबित एवं लाइन हाजिर किया गया है, उनमें कर्तव्यनिष्ठा में लापरवाही बरतने व पारदर्शिता ना बरतने जैसे कई संगीन आरोप हैं। इन दरोगाओं व पुलिसकर्मियों के खिलाफ यह कठोर कार्रवाई कप्तान ने आरोपों की जांच करवाने के बाद की। सूत्रों का यह भी कहना है कि जिन तीन दरोगाओं व मुख्य आरक्षी समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित एवं लाइन हाजिर किया है, उनके खिलाफ कप्तान ने विभागीय जांच भी बैठा दी है। बता दें कि कप्तान ने मात्र कुछ घंटों के अंदर एक दरोगा व मुख्य आरक्षी को सस्पेंड व दो दरोगा और आधा दर्जन से अधिक मुख्य आरक्षियों सहित दो दर्जन से अधिक पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करके डीआईजी अमित पाठक ने अपने उग्र तेवर दिखाते हुए मातहत अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को यह एहसास करवा दिया कि उनके थाने में भ्रष्टï व निकृष्टï पुलिस अधिकारियों एवं पुलिसकर्मियों के लिए कोई रहम नहीं है।