प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। कविनगर थाने के एसएचओ अमित सिंह की टीम ने कुछ दिन पूर्व जयपुरिया कंस्ट्रक्शन कंपनी की साइट पर बन रहे टॉवर में पड़ी डकैती का खुलासा करते हुए अंतर्राज्जीय गैंग के सरगना अजय परिहार समेत पांच कुख्यात डकैतों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये डकैतों के पास से लूटा गया एक कुंतल कॉपर तार, गनमैन से लूटी गई बंदूक, हथियार, नगदी, लूट में प्रयुक्त टेंपू, वरना कार और अन्य कीमती सामान समेत एक करोड़ से अधिक का माल बरामद हुआ। पुलिस की माने तो इन बदमाशों ने पूछताछ में गाजियाबाद, यूपी, दिल्ली एनसीआर के अलावा अन्य कई सूबों में हुई दर्जनों संगीन वारदातों को अंजाम देना भी स्वीकार किया। इस खुलासे के संदर्भ एसपी सिटी प्रथम ने बताया कि एसएचओ थाना कविनगर अमित सिंह की टीम ने बदमाशों के जिस अंतर्राज्जीय गैंग के बदमाशों को गिरफ्तार किया है उनके नाम सरगना अजय परिहार, अखिलेश कुशवाहा उर्फ मुच्छड़, विनय कुशवाहा, पप्पू व सोनू हैं। इनमें से दो बदमाश एमपी के रहने वाले हैं, जबकि तीन बदमाश लोकल के ही हैं। इस गैंग के ऐसे कई और सदस्य हैं जो अभी पुलिस की पकड़ में नहीं आये हैं। श्री अग्रवाल ने बताया कि यह गैंग किसी भी वारदात को अंजाम देने से पहले ऐसी कंपनी, फर्म अथवा प्रतिष्ठान की रेकी करता है जो किसी वजह से बंद होते हैं या सुनसान स्थान पर होते हैं। इसके बाद गैंग के सदस्यों को उनकी अलग-अलग जिम्मेदारी सौंप दी जाती है। वारदात को अंजाम देने के बाद कुछ बदमाश टेंपों अथवा मिनी ट्रक में लूट का माल भरकर घटनास्थल से निकल जाता है। वहीं, गैंग लीडर और उसके साथ तीन चार बदमाश कार से अपने-अपने ठिकानों की ओर चले जाते हैं। वारदात के कुछ समय बाद माल को बेचकर उससे मिली रकम को आपस में बांट लिया जाता है। श्री अग्रवाल ने बताया कि यह गैंग पकड़े जाने से पहले भी महानगर क्षेत्र में किसी संगीन वारदात को अंजाम देनी की योजना बना रहा था।