युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। रालोद के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी का कहना है कि चौधरी अजित सिंह जाते-जाते भी पश्चिमी यूपी में किसानों को एकजुट कर पार्टी को जिंदा कर गए। त्रिलोक त्यागी ने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान जब प्रशासन किसान नेता राकेश टिकैत को परेशान करने पर उतर आया तो उनके आंसू तक छलक पड़े। चौधरी अजित सिंह ने यह देखा नहीं गया।
उन्होंने किसानों से एकजुट होने का आह्वान किया और बयान जारी किया कि वे इसके विरोध में आंदोलन स्थल पर पहुंच रहे हैं। इसका परिणाम यह हुआ कि पश्चिमी यूपी का किसान आंदोलन के पक्ष में राकेश टिकैत के साथ एकजुट होकर खड़ा हो गया। त्रिलोक त्यागी ने कहा कि आज पंचायत चुनाव के परिणाम आ चुके हैं और रालोद पश्चिमी यूपी में बेहद मजबूत दल बनकर उभरा है। पंचायत चुनाव में रालोद सत्ताधारी भाजपा को कहीं पीछे छोड़ते हुए पश्चिमी यूपी में आगे बढ़ गई है और नंबर एक पर आ खड़ी हुई है। त्रिलोक त्यागी का कहना है कि चौधरी अजित सिंह जाते-जाते भी रालोद और मजबूत और किसानों को एकजुट कर गए। उनका एक बयान और आह्वान ने रालोद और किसानों को जो ताकत दी उसके परिणम पंचायत चुनाव में सामने आ चुके हैं। रालोद आज पश्चिमी यूपी में सबसे मजबूत पार्टी बनकर उभरी है।