युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जनपद में तैनात कुछ खाकीदारी अपनी विकृत एवं अपराधिक मानसिकता की वजह से जहां खाकी पर दाग लगाने का कार्य कर रहे हैं तो वहीं महिलाओं, युवतियों व बच्चियों को हैवानों एवं मनचलों से बचाने के लिये डीआईजी अमित पाठक की एंटी रोमियों स्कीम की धज्जियां उड़ाते भी दिखाई दे रहे हैं। खाकी पर दाग लगाने वाला एक मामला उस समय उजागर हुआ कि डासना चेकिंग प्वाइंट पर तैनात एक यातायात पुलिसकर्मी ने एनएच-९ पर दौड़ते हुए ऑटो में सवार तीन कामकाजी युवतियों के साथ छेड़छाड़ की और युवतियों द्वारा इसका विरोध करने पर उनके साथ अभद्रता भी की। पीडि़ताओं का कहना है कि दीवान ने शराब भी पी रखी थी। यातायात पुलिसकर्मी के द्वारा युवतियों के साथ की गई अभद्रता एवं छेड़छाड़ का पता लगने पर पीडि़ताओं के परिजनों ने आरोपित सिपाही की शिकायत आला अफसरों से की है। उधर जैसे ही इस सनसनीखेज व शर्मनाक घटना का पता एसपी ट्रैफिक को पता चला तो उन्होंने तुरंत आरोपित सिपाही को चेकिंग प्वाइंट से हटाकर उसके खिलाफ जांच शुरू कर दी है। इस संदर्भ में एसपी ट्रैफिक रामानन्द कुशवाहा का कहना है कि आरोप साबित हो जाने पर दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।