नई दिल्ली। दुनियाभर में ओमिक्रॉन का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। भारत में भी इसके आंकड़ों में लगातार इजाफा हो रहा है। अब तक देश में 224 से ज्यादा ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले सामने आ चुके हैं। इससे लोगों में खौफ बढ़ता जा रहा है। इससे बचने के लिए कई देशों में बूस्टर डोज लगना शुरू हो गया है। दावा किया जा रहा है कि इससे ओमिक्रॉन संक्रमण की रफ्तार को बहुत हद तक काबू में लाया जा सकता है। यूके के रिसर्चर्स ने हाल ही में कहा था कि ओमिक्रॉन के गंभीर मामलों में बूस्टर डोज 80 प्रतिशत तक इफेक्टिव है। सोमवार को मॉडर्ना ने भी कहा कि उसने 50 माइक्रोग्राम और 100 माइक्रोग्राम की दो बूस्टर डोज का क्लिनिकल ट्रायल किया है। इससे इम्यूनिटी 83 गुना तक बढ़ सकती है।