प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एडीसीपी क्राइम सच्चिदान्नद बर्नवाल के द्वारा शातिर बदमाशों की कमर तोडऩे के लिये चलाई जा रही मुहिम को एक और बड़ी सफलता मिली है। यह सफलता उस समय मिली कि जब उनकी टीम के प्रभारी निरीक्षक अब्दुल रहमान सिदï्दीकी ने अपने सहयोगियों एवं एसएचओ मसूरी नरेश कुमार शर्मा की टीम के साथ मिलकर ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रैस वे के नीचे खड़े होकर चोरी की लग्जरी कारों की डील कर रहे वाहन चोरों के अंतर्राज्जीय चवन्नी गैंग के चार शातिर चोरों को गिरफ्तार कर लिया।
इस कार्रवाई के दौरान श्री सिदï्दीकी की टीम ने विभिन्न स्थानों से चुराई गई पांच लग्जरी कार, कैश, चाबियों का गुच्छा, औजार व अन्य सामान बरामद कर लिया। पुलिस ने चोरी की जो कार बरामद की हैं उनमें दो ब्रेजा विटारा, होंड़ा जाज, बलेनो व सेंट्रो आदि हैं। पूछताछ के दौरान गैंग लीडर ने अपना नाम ताज मौहम्मद उर्फ ताजू उर्फ चवन्नी निवासी मौहल्ला ठुकरान ककोड़ बुलंदशहर बताया। अन्य बदमाशों ने अपने नाम कािसफ निवासी बुलंदशहर, गुडï्डू खान निवासी सीलमपुर दिल्ली व मतीन निवासी मुरादाबाद बताये। गैंग लीडऱ ने बताया कि उसका गिरोह ऑन डिमांड वाहन विशेषकर लजरी कार चुराने में माहिर है। उसका नेटवर्क दिल्ली,यूवी, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान व महाराष्ट्र आदि प्रदेशों तक फैला हुआ है। वह और उसके साथी दिल्ली एनसीआर से कार चुराकर उपरोक्त प्रदेशों में बेच देते थे। आज भी वो चोरी की कारों की डील करने के लिये आये थे। इससे पहले उनकी डील हो पाती क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्हें दबोच लिया। चवन्नी ने बताया कि उसने गत वर्ष रूहिल्ला दिल्ली में स्थित एटीएम को काटकर वहां से १९ लाख ५० हजार से अधिक की रकम चोरी कर ली थी। उधर पुलिस सूत्रों का कहना है कि चवन्नी उर्फ ताजू उर्फ ताज मौहम्मद गैंग जहां सन २०१२ से वाहन चोरी व लूट कर रहा है वहीं यह गिरोह अब तक लगभग ६०० वारदातों को अंजाम देकर कई सूबों की पुलिस के लिये सिरदर्द बन गया था। इस गैंग के पकड़े जाने पर जहां कई राज्यों की पुलिस ने राहत की सांस ली है वहीं पुलिस कमिश्नरेट गाजियाबाद के पुलिस आयुक्त अजय कुमार मिश्रा व एडिशनल सीपी दिनेश कुमार पी ने भी क्राइम ब्रांच प्रभारी निरीक्षक अब्दुल रहमान सिदï्दीकी व उनके सहयोगियों की पीठ थपथपाई है।