युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। ऑक्सीजन प्लांट निर्बाध रूप से संचालित रहें, इसके लिए अब टेक्नीशियन की तैनाती होगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। तीसरी लहर ही आशंका को देखते हुए व भविष्य में ऑक्सीजन का संकट ना हो, इसके लिए प्रदेश सरकार हर जिला स्तर पर तैयारी कर रही है।
इसी क्रम में गाजियाबाद जिले में भी नौ ऑक्सीजन प्लांट बनाए जा रहे हैं जिसमें से तीन अब तक स्थापित हो चुके हैं और बाकी के तीन प्लांट इस माह के अंत तक स्थापित हो जाएंगे। यह प्लांट सुचारू रूप से चलते रहें, इसकी देखभाल के लिए टेक्नीशियनों की तैनाती की जाएगी। ऐसा नहीं है कि जिले में पूर्व में ऑक्सीजन प्लांट नहीं थे। संयुक्त जिला अस्पताल में पूर्व में ही ऑक्सीजन प्लांट बना हुआ था लेकिन देखरेख के अभाव में यह प्लांट कुछ समय बाद ही बंद हो गया। जब कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन का संकट पड़ा तो यह प्लांट शुरू ही नहीं हो सका। इसकी वजह से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा और ऑक्सीजन का सकंट बना रहा। हालातों पर काबू पाने के बाद अब संयुक्त जिला अस्पताल में एक नया ऑक्सीजन प्लांट बीईएल कंपनी द्वारा शुरू किया गया है। इसके अलावा ईएसआई अस्पताल साहिबाबाद, भोजपुर ब्लॉक में भी एक प्लांट शुरू हो चुका है। यह प्लांट निर्बाध रूप से चालू रहे, इसके लिए अब इन प्लांटों की देखरेख के लिए दो-दो टेक्नीशियनों की तैनाती रहेगी। बाकी अन्य प्लांट भी जैसे शुरू होंगे, वहां भी टेक्नीशियन तैनात होंगे जिनकी जिम्मेदारी इन प्लांटों को सुचारू रूप से संचालित रखने की होगी ताकि भविष्य में यह बंद ना हो सकें।