युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लोनी थाना क्षेत्र के गांव टीला शहबाजपुर में रहने वाला राजेश राय नामक युवक कोरोना संक्रमित हो गया था। सहीं समय पर उन्हें उपचार न मिलने व प्रशासनिक उपेक्षा की वजह से वह मौत के मुंह में चले गये। प्रशासन पर आरोप लगाते हुए मृतक राजेश राय की पत्नी पवित्रता ने कहा कि वह न्याय पाने के लिये पहले तो आरोपित अधिकारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने हेतु डीआईजी से मिलेंगी और अगर वहां भी उनकी फरियाद हीं सुनी गई तो वह हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटायेंगी। अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए मृतक युवक की पत्नी ने कहा कि अब उनका व उनके दो अबोध बच्चों का गुजारा कैसे होगा।
ऑक्सिजन ने मिलने और समय पर उपचार न मिलने की वजह से हुई पति की मौत से आहत पवित्रता ने बताया कि गत माह के अािखरी सप्ताह में उनके पति राजेश राय कोरोना संक्रमित हो गये थे। इसके बाद उनका ऑक्सिजन का लेवल अचानक गिर गया था। ऑक्सिजन का सिलेंडर पाने और बीमार पति को उपचार के लिये किसी अस्पताल में भर्ती करवाने के लिये वो अधिकारियों से लेकर अस्पतालों के संचालकों/ चिकित्सकों के सामने गिड़गिड़ाती रही रही। लेकिन उनकी फरियाद किसी ने नहीं सुनी। जिसके चलते उनके पति की मौत हो गई। उधर हिन्दू जागरण मंच के जिलाध्यक्ष पवन चौधरी ने कहा कि २९ अपै्रल को एक प्रशासनिक अधिकारी से दूरभाष पर संपर्क किया गया। उस समय उक्त अधिकारी ने पीडि़ता को यह आश्वासन दिया कि दो दिनों में उन्हें ऑक्सिजन का सिलेंडर मिल जायेगा।