युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गाजियाबाद में बतौर एसएसपी पद पर तैनात रहे आईपीएस कलानिधि नैथानी ने अपने कार्यकाल के दौरान माफियाओं, गुंडाराज पर जहां कड़ी लगाम कसी और ताबड़तोड़ कार्रवाई कर अपराधियों को जेल पहुंचाया। वहीं आम आदमी को यह विश्वास दिलाया कि पुलिस उनकी हरसंभव मद्द करने को तैयार है। उनकी पुलिसिंग की अनोखी शैली ने जिले में पुलिसकर्मियों के रैवेये, बर्ताव एवं कार्यशैली में भी काफी कुछ बदलाव किया। जब आईपीएस कलानिधि नैथानी को अलीगढ़ में बतौर एसएसपी तैनात किया गया जहां पिछले १५ साल से शराब माफियाओं ने अपना आतंक मचा रखा था।
अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से ५० से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मुख्य आरोपियों सहित अन्य शराब माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाते हुए उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। इसका नतीजा यह निकला कि जिस जिले में पिछले १५ साल से शराब माफियाओं का आंतक था, वह महज एक माह में ही दम तोड़ता नजर आने लगा है। आरोपी जेल में पहुंच गए हैं। एसएसपी कलानिधि नैथानी की टीम ने महज एक महीने के रिकॉर्ड समय में शराब माफियाओं की कमर तोड़ कर रख दी। जहरीली शराब कांड में २९ मुकदमे दर्ज किए गए हैं जिसमें ८9 आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाया गया है। आठ इनामी बदमाश धरदबोचे गए। तो वहीं आठ मामलों में ३० अभियुक्तों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है। सिर्फ कानून ही नहीं बल्कि एसएसपी कलानिधि नैथानी ने आर्थिक रूप से भी शराब माफियाओं की कमर तोडऩे का कार्य किया है। २२ आरोपियों के ४२ खातों में जमा करीब एक करोड़ की धनराशि को फ्रीज किया गया है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि अब तक आरोपियों की १०० करोड़ से अधिक की सपंत्ति को चिन्हित कर लिया गया है जिसके जब्तीकरण की कार्रवाई जल्द शुरू की जाएगी। उन्होंने बताया कि जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपी रिषी शर्मा, मुनी शर्मा, अनिल चौधरी, विपिन यादव सहित प्रमुख आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है। अगले महीने से शराब माफियाओं का पूरी तरह से सफाया करने के लिए अभियान चलाया जाएगा जिसमें संपत्ति जब्तीकरण, दर्ज मुकदमों के तहत कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा ताकि जिले से पूरी तरह से शराब माफियाओं का खात्मा हो सके।
अलीगढ़ में हुए जहरीली शराब कांड ने वहां के प्रशासनिक तंत्र पर सवालिया निशान खड़े कर दिए थे लेकिन जिस तरह से महज एक महीने में एसएसपी ने अपनी टीम के साथ शराब माफियाओं पर ताबड़तोड़ कार्रवाई कर आरोपियों को जेल पहुंचाया, उससे आम जन ने बड़ी राहत की सांस ली है। एसएसपी कलानिधि नैथानी की गिनती तेजतर्रार आईपीएस अधिकारियों में होती है जो बेहतर पुलिसिंग और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए जाने जाते हैं। उनकी इस कार्रवाई से अलीगढ़ में अपराधी खौफ में हैं।