हिस्ट्रीशीटर को गनर देना पड़ गया लोनी कोतवाल पर भारी
गाजियाबाद (युग करवट)। चाहतराम नामक एक हिस्ट्रीशीटर को गनर देना एसएचओ लोनी अनिल सिंह राजूपत के ऊपर भारी पड़ गया। हिस्ट्रीशीटर चाहतराम को अधिकारियों की अनुमति के बिना एसएचओ लोनी के द्वारा गनर दिये जाने का मामले के संज्ञान में आते ही पुलिस आयुक्त अजय कुमार मिश्रा ने इस प्रकरण को बउ़ी गंभीरता से लिया। उसके बाद उन्होंने जहां तत्काल प्रभाव से एचएस चाहतराम को दिये गये गनर की वापसी करवा दी वहीं श्री मिश्रा ने एसएचओ लोनी अनिल सिंह राजपूत को निलंबित कर दिया। सूत्रों की माने तो श्री मिश्रा ने इस प्रकरण की जांच भी बैठा दी है। इस संदर्भ में जब डीसीपी रूरल विवेकचंद्र यादव से पूछा गया तो उनका कहना था कि पुलिस के आला अफसरों की अनुमति लिये बिना ही एसएचओ लोनी अनिल सिंह राजूपत ने एक गनर उसे दे दिया था। उस मामले के प्रकाश में आते ही पुलिस प्रशासन ने एसएचओ लोनी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया। वहीं सूत्रों का कहना है कि जिस गनर की बात हिस्ट्रीशीटर को दिये जाने की बात कही जा रही है उसे काफी समय से अधिकारियों के मौखिक आदेश के बाद एचएस चाहतराम को दिया जा रहा था। लोनी थाने में तैनात एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि पुलिस महकमें के अधिकारियों के मौखिक आदेश के बाद कई लोगों को गनर दिये जाते रहे हैं।