युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जनपद पुलिस का मानवीय एवं संवेदनहीन चेहरा उस समय उजागर हुआ जब विजयनगर थाने के एसएचओ महावीर सिंह ने एक ऐसे युवती की जान बचाई जो प्रेमी की शारीरिक, आर्थिक एवं सामाजिक प्रताडऩा से तंग आकर ना केवल पूरी तरह से तनावग्रस्त हो गई थी बल्कि आत्महत्या करने भी जा रही थी। इस संदर्भ में एसएचओ महावीर सिंह ने बताया कि जब उन्होंने एक युवती को बदहवास स्थिति में देखा तो उसे सांत्वना देने के बाद बड़े प्यार से उसकी पीड़ा सुनी। श्री सिंह ने बताया कि बकौल पीडि़ता वह विजयनगर थाना क्षेत्र की रहने वाली है। सन २०१८ तक उसका रिलेशन बिहार हाल नोएडा निवासी रोहित सिंह उर्फ विकास से रहा था। सन २०१९ में जब उसकी शादी हो गई तो उसने रोहित को रिलेशन में रहने अथवा कोई भी संपर्क बनाने से मना कर दिया। उसके बाद रोहित पूरी तरह हैवान बनकर ना केवल उसका मानसिक, शारीरिक व आर्थिक शोषण करने लगा बल्कि उसे ब्लैकमेल भी करने लगा। इतना ही नहीं, रोहित ने उसकी अश्लील वीडियो क्लिप बनाकर उसके परिजनों व पति और नंदोई को भी भेज दी। उसे पूरी तरह से बर्बाद करने पर भी जब रोहित का मन नहीं भरा तो उसने दो-तीन दिन पूर्व उसे धमकी दी कि या तो वह उसे पचास हजार रुपए दे दे नहीं तो वह उसकी पांच साल की भतीजी की इज्जत के साथ खिलवाड़ कर उसके टुकड़े-टुकड़े कर देगा। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।