नई दिल्ली (युग करवट)। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्र संघ चुनाव को लेकर एबीवीपी और वाम छात्र संगठनों ने मंगलवार देर रात मशाल जुलूस निकालकर समर्थन जुटाया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का जुलूस जेएनयू के गंगा ढाबे से निकलकर चंद्रभागा छात्रावास तक निकाला गया। उधर वाम संगठनों का जुलूस चंद्रभागा से गंगा ढाबे तक निकला।
जुलूस में जेएनयू के अलग – अलग विभागों से सैकड़ों की संख्या में विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस मशाल यात्रा में एबीवीपी की तरफ से अध्यक्ष पद के प्रत्याशी उमेश चंद्र अजमीरा, उपाध्यक्ष पद की प्रत्याशी दीपिका शर्मा, सचिव पद के प्रत्याशी अर्जुन आनंद एवं संयुक्त सचिव के प्रत्याशी गोविंद डांगी के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में छात्र उपस्थित रहे, जिन्होंने भारत माता की जय, वंदे मातरम् जैसे नारों के उद्घोष से जेएनयू परिसर को ध्वनित किया। एबीवीपी जेएनयू इकाई के मंत्री विकास पटेल ने कहा कि, आज हमने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में गंगा ढाबे से लेकर चंद्रभागा छात्रावास तक विशाल मशाल यात्रा निकाली जिसमें बड़ी संख्या में छात्रों ने प्रतिभाग किया।
इस मशाल यात्रा में उमड़े हुजूम से पता चल रहा है कि जेएनयू से वामियों का सूपड़ा साफ होने वाला है और विद्यार्थी परिषद जेएनयू छात्र संघ चुनाव में चारों सीट्स पर मजबूती के साथ आ रहा है। बता दें कि जेएनयू में 22 मार्च को छात्र संघ चुनने के लिए मतदान होगा। एबीवीपी के मुकाबले लेफ्ट पैनल ने आइसा के धनंजय को अध्यक्ष, एसएफआई के अभिजीत घोष को उपाध्यक्ष, डीएसएफ की स्वाति सिंह को सचिव और एआइएसएफ के साजिद को संयुक्त सचिव का प्रत्याशी बनाया है।