प्रमुख अपराध संवादï्दाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एडीजी पीएसी लखनऊ डॉक्टर केएस प्रताप कुमार व डीआईजी पीएसी मेरठ-अयोध्या अनुभाग अनिल कुमार ने ४७वीं वाहिनी पीएसी का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण से पहले वाहिनी क्वॉर्टर गारद पर एडीजी पीएसी डॉक्टर केएस प्रताप कुमार, डीआईजी अनिल कुमार व सेनानायक कल्पना सक्सैना ने मान प्रणाम भी ग्रहण किया। इसके बाद तीनों अधिकारियों ने क्वॉर्टर गारद, आदर्श भोजनालय, सीपीसी कैंटीन, आरटीसी-बैरक, चिकित्सालय, प्रशासनिक भवन, स्नानघर, शैचालय, पीएसी परिसर, जवानों व अधिकारियों के भवन, २०० जवानों के लिये निर्माणाधीन बैरक और धार्मिक स्थल के अलावा कार्यालयों का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर एडीजी श्री कुमार ने चॉक चौबंद व्यवस्था, अनुशासन व कर्तव्यनिष्ठा का उदाहरण पेश करने की बात भी अधिकारियों व जवानों से कही। इस मौके पर पीएसी के अधिकारियों व जवानों की समस्याओं का निराण करने के लिये एक सनिक सम्मेलन का भी आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में प्रस्तुत हुई अधिकांश समस्याओं का समाधान एडीजी व डीआईजी स्तर पर तत्काल कर दिया गया। निरीक्षण के बाद एडीजी पीएसी डॉक्टर केएस प्रताप कुमार व डीआईजी अनिल कुमार ने १०० दिवसीय कार्यक्रम के तहत ४७वीं वाहिनी की सेनानायक कल्पना सक्सैना के द्वारा अर्जित की गई सफलता पर उनकी मुक्तकंठ से प्रशंसा एवं सराहना की। निरीक्षण कार्यक्रम की समापन पर सेनानायक कल्पना सक्सैना ने दो उच्च अधिकारियों के आगमन पर हर्ष एवं आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सीायक सेनानायक सुरेश कुमार मलिक शिविरपाल अखिलेश कुमार, आरटीसी प्रभारी बीरपाल सिंह, सूबेदार सैन्य सहायक संदीप चौधरी, सहायक शिविरपाल योगेंद्र सिंह व तेजपाल सिंह के अलावा कई अधिकारी मौजूद रहे।