फरीदाबाद। पलवली गांव में एकॉर्ड अस्पताल के हॉस्टल में एक स्टाफ नर्स का शव फंदे से लटका मिला। हॉस्टल तीन मंजिल का बना हुआ है। यहां 62 नर्स रहती हैं। तीसरी मंजिल पर जाने के बाद सीढिय़ों की ममटी की छत से निकले सरियों पर दुप्पटे के सहारे नर्स का शव लटका हुआ था। दुपट्टा उंचाई पर बांधने के लिए बांस की सीढ़ी का इस्तेमाल किया गया था। सूचना पाकर खेडी पुल थाने से पुलिस मौके पर पंहुची और शव कब्जे में लिया। फोरेंसिक टीम ने युवती के कमरे की तलाशी ली लेकिन कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। पुलिस ने युवती का मोबाइल व लेपटॉप व अन्य सामान कब्जे में लिया है।
युवती की पहचान मूल रूप से महेंद्रगढ़ के गांव राठीवास निवासी कविता (26) के रूप में हुई है। दूसरे मामले में पलवल निवासी मृतका शीतल के भाई नरेंद्र ने बताया शीतल (27) एकॉर्ड अस्तपाल में जीएम के पद पर कार्यरत थी। दो दिन से उनका शीतल से कोई संपर्क नहीं हो रहा था। सोमवार को हॉस्पिटल ने उन्हें सूचना दी कि शीतल अस्पताल भी नहीं आ रही है। परिजनों ने सेक्टर-86 स्थित समर पाम सोसाइटी की तीसरी मंजिल पर स्थित फ्लैट नंबर 307 पर पहुंचे। फ्लैट अंदर से बंद था। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पंहुची और दरवाजा तोडक़र अंदर दाखिल हुई। फ्लैट के अंदर वाले कमरे के पंखे पर शीतल का शव फंदे से लटका हुआ था। शीतल यूपीएससी की तैयारी कर रही थी। 16 तारीख को उसे एक परीक्षा में भी जाना था।