युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कविनगर थाना क्षेत्र के गांव में बम्हैटा में रहने वाले दहेजलोभियों ने दहेज की भूख शांत न होने पर नवविाहिता की हत्या कर दी। सोनू नामक युवती की मौत की सूचना के बाद बम्हैटा गांव में पहुंचे मृतका के परिजनों ने सोनू के पति, सास, ननद एवं ननदोई पर आरोप लगाते हुए कहा कि दहेज में कैश और स्कॉर्पियो कार की डिमांड पूरी न होने पर उन्होंने सोनू को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया। इस संदर्भ में सीओ कविनगर अंशू जैन का कहना है कि पुलिस ने विवाहिता के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवाकर तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है। सुश्री जैन ने बताया कि तहरीर एवं पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जायेगी। उक्त सनसनीखेज घटना की जानकारी देते हुए मृतका के भाई आकाश यादव निवासी सराय बुलंदशहर हाल गढ़ी चौखंड़ी नोएडा ने बताया कि उन्होंने अपनी बहन सोनू की शादी बम्हैटा निवासी रिन्कू यादव से ११ दिसंबर २०२० को की थी। शादी ने उन्होंने अपनी हैसियत से अधिक दान-दहेज दिया था। लेकिन शादी के दो दिन बाद से ही रिंकू यादव, उसकी मां राजन देवी, बहन और बहनोई ने उसकी बहन को दहेज के लिये मानसिक व शारारिक प्रताडऩा देनी शुरू कर दी। आकाश यादव के मुताबिक शादी के बाद उसकी बहन सोनू अपनी ससुराल में मात्र १५ दिन एक बार और १५ दिन हत्या के दिन से पहले तक रही। आकाश यादव ने बताया कि बहन की हत्या की सूचना पाकर जब वो बम्हैटा गांव में पहुंचे तो उन्होंने बहन सोनू के मुंह से झाग निकलते देखे और शरीर नीला पड़ा हुआ देखा।