लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार सुबह प्रयागराज के बाघम्बरी मठ पहुंचकर महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन कर उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि दी। अंतिम दर्शन के बाद योगी ने पत्रकारों के साथ बातचीत भी की। योगी ने साफ कहा कि इस घटना का पर्दाफाश किया जाएगा। पुलिस ने कई सबूत इक_ा किए हैं। पुलिस की एक टीम, एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडल आयुक्त प्रयागराज एक साथ मिलकर इसकी जांच में लगे हैं। एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा। दोषी को सजा जरूर मिलेगी। योगी ने आगे कहा कि इस घटना में संवेदनशील प्रकरण में अनावश्यक बयानबाजी से बचें। जांच एजेंसियों को निष्पक्ष जांच करने दें। जो भी जिम्मेदार होगा उसको कानून के दायरे में लाकर कड़ी सजा दिलाई जाएगी।
योगी ने बताया कि धार्मिक परपंरा के अनुसार पंचक होने के कारण उनके शिष्यों और अनुयायियों और अखाड़ा से जुडे पदाधिकारियों की राय है कि आज जनता के दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर यही रहेगा। कल पांच सदस्यीय टीम उनके पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम करेगी। उसके बाद धर्मिक रीति के अनुसार समाधि का कार्यक्रम यहां संपन्न होगा। सीएम योगी ने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत की घटना से हम सब परेशान हैं। संत समाज और प्रदेश सरकार की ओर से उनके प्रति विनम्र श्रद्धांजलि के लिए मैं खुद यहां आया हूं। ये हमारी आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है।