युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। देर से ही सही, पर कदम उठाया गया। गाजियाबाद में चेन्नई जैसी स्थिति ना बने, इसके लिए डिस्ट्रिक्ट ग्राउंड वाटर मैनेजमेंट काउंसिल ने कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। भूजल को प्रदूषित करने वाली इकाइयों की पहचान का काम चल रहा है। ऐसी 200 इकाइयों की पहचान कर ली गई है। इनको अब नोटिस भेजा जा रहा है। ऐसे ही अंबेडकर रोड स्थित एक फर्म नोटिस भेजा गया है।
ग्राउंड वाटर पोर्टल के नोडल अधिकारी की ओर से भेजे गए नोटिस में बताया गया कि शिकायत मिलने के बाद जांच की गई थी। जांच में शिकायत को सही पाया गया। जांच में पाया गया कि अनुमति के बिना भूजल दोहन हो रहा था। जिला भूगर्भ जल परिषद के सदस्य व आरटीआई कार्यकर्ता आकाश वशिष्ठ ने शिकायत दर्ज कराई थी।