प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। अपने मकान में फर्जी कॉल सेंटर की ऑढ़ में अब तक सैकड़ों लोगों से करोड़ों की ठगी करने वाले गैंग का सरगना एआईएमआईएम का वरीष्ठ नेता परवेज पाशा निकला। ठगी के इस नेटवर्क के संचालन की सूचना मिलने के बाद एडीसीपी क्राइम ज्ञानेंद्र सिंह की टीम ने साहिबाबाद थाने के एसएचओ सचिन मलिक की टीम के साथ डीएलएफ में स्थित परवेज पाशा के मकान पर छापा मारकर उसके सहित चार साइबर क्रिमिनलों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक छापे के दौरान पुलिस ने मौके से एक स्कॉर्पियों, एमजे हैक्टर व ईको स्पोट्र्स जैसी लग्जरी कारों के अलावा एक दर्जन मोबाइल, नगदी, लैपटॉप, कंप्यूटर, फर्जी दस्तावेजों और ठगी में प्रयुक्त होने वाली सामग्री भी बरामद कर ली। पुलिस ने परवेज पाशा के अलावा उसके जिन तीन साथी क्रिमिनलों को गिरफ्तार किया है उनके नाम अमन, सौरभ व विनोद बताये गये हैैं। पूदताछ दौरान इन साइबर क्रिमिनलों ने बताया कि वे लोन दिलवाने के नाम पर अब तक सैंकड़ों लोगों से करोड़ों की की ठगी कर चुके हैं। वह अपना शिकार बनाने के लिये फोन नंबरों की सिरीज पर श्रंृखलाबद्घ तरीके से फोन करते थे। इस बीच दस नंबरों पर कॉल करने पर हर तीसरा व्यक्ति उनके झांसे में आ जाता था। उसके बाद फाइल चार्ज व कागजात बनवाने और त्वरित लोन दिलवाने के नाम पर झांसे में आये शिकार से हजारों से लेकर लाखों की ठगी कर लेते थे।