नई दिल्ली। एक ओर कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व उदयपुर में पार्टी को मजबूत करने पर चिंतन कर रहा है तो वहीं, दूसरी ओर पंजाब के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।
उन्होंने फेसबुक पेज पर इसकी घोषणा करते हुए लिखा कि गुडलक एंड गुडबाई। जाखड़ पर कांग्रेस ने हाल ही में अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए उन्हें सभी पदों से हटा दिया गया था। सुनील जाखड़ को एक दिन पहले ही पार्टी आलकमान ने कारण बताओ नोटिस दिया था। अपने फेसबुक लाइव में उन्होंने कहा कि पार्टी चिंतन शिविर सिर्फ औपचारिकता थी। हर जगह पंजाब की स्थिती बदतर है। कांग्रेस के कुछ नेताओं को बेनकाब करना जरूरी है। सुनील जाखड़ ने कांग्रेस नेता अंबिका सोनी पर सीधा हमला बोला। उन्होंने कांग्रेस का बेड़ा गर्ग किया।
उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर आरोप लगाया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाए जाने के बाद मुख्यमंत्री की नियुक्ति के मसले पर पंजाब के एक खास नेता की बात सुनी गई। सुनील जाखड़ ने कहा कि उनके परिवार की 3 पीढिय़ों ने 50 साल तक कांग्रेस की सेवा की।