युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। भारत रत्न से सम्मानित देश के चौथे गृहमंत्री व उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री पंडित गोविंद बल्लभ पंत को उनकी जयंती पर आज जिला मुख्यालय में अधिकारियों ने नमन किया। आजादी की ७५वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित अमृत महोत्सव और चौरा-चौरी कांड के कार्यक्रमों की श्रंखला में प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री की जयंती मनाई गई। जिला मुख्यालय के सभागार में डीएम आरके सिंह ने गोविंद बल्लभ पंत की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पंडित गोविंद बल्लभ पंत एक स्वतंत्रता सेनानी, कुशल प्रशासक, प्रखर वक्ता, लेखक और वरिष्ठ भारतीय राजनेता थे।
वह उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री बने और भारत के चौथे गृहमंत्री थे। गृहमंत्री के रूप में उनका योगदान भारत को भाषा के अनुसार राज्यों में विभक्त करना था। हिंदी को भारत की राजभाषा के रूप में प्रतिष्ठित करना था। दस सितंबर १८८७ को अल्मोड़ा में जन्मे पंडित गोविंद बल्लभ पंत को १९५७ में भारत रत्न से सम्मानित किया गया। आजादी के अमृत महोत्सव के कार्यक्रमों की श्रंखला में उनकी जयंती मनाई गई। इस दौरान जिला मुख्यालय के अधिकारियों व कर्मचारियों ने उनकी तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया। इस दौरान एडीएम एफ यशवर्धन श्रीवास्तव, एडीएम सिटी एसके सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार, एसीएम प्रथम खालिद अंजुम, एसडीएम सदर डीपी सिंह, स्टेनो बाबू फहीम उस्मानी व अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।