युग करवट ब्यूरो
मुरादाबाद। सीएम के आगमन से पहले आज तडक़े मुरादाबाद पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। एक लाख के इनामी खनन माफिया जफर को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार किया। खनन माफिया एसडीएम ठाकुरद्वारा परमानंद सिंह व टीम से अभद्रता करते हुए डंपर छुड़ा ले गए थे। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने जिले के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई थी। तभी से ठाकुरद्वारा पुलिस खनन माफिया जफर की तलाश कर रही थी। जफर पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। इसी सिलसिले में पुलिस ठाकुरद्वारा से उसका पीछा करते हुए उत्तराखंड के भरतपुर गांव में पहुंच गई थी। इस दौरान वह ब्लाक प्रमुख गुरताज सिंह भुल्लर के घर जाकर छिप गया था। यहां पुलिसकर्मियों के साथ जमकर मारपीट की गई। इस दौरान दो पुलिस कर्मियों के गोली लगी, जबकि कुल नौ पुलिस कर्मी घायल हो गए। एडीजी जोन राजकुमार ने माफिया जफर पर एक लाख का इनाम घोषित कर दिया। आज तडक़े पाकबड़ा पुलिस को सूचना मिली कि एक लाख का इनाम जफर बाइक से कहीं जा रहा है।
पाकबड़ा-अगवानपुर बाइपास पर पुलिस ने आरोपी को पकडऩे के लिए घेराबंदी की तो जफर ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई मेें गोली जफर के पैर में लगी। वहीं मुठभेड़ में एक सिपाही संदीप के हाथ में गोली लग गई। मुठभेड़ के बाद एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया भी मौके पर पहुंचे। घायल खनन माफिया जफर व सिपाही संदीप को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ के आज मुरादाबाद आगमन से पहले पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जफर के कब्जे से एक पिस्टल और बाइक बरामद हुई है।