युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। इस बार भी नए साल का जश्न फीका रहेगा। कोरोना ने नए साल के समारोह पर बैन लगा दिया है। हालांकि, होटल से लेकर रेस्टोरेंट संचालकों ने तैयारी पूरी कर रखी थी। नवंबर तक जिले में संक्रमण के मामले बेहद कम थे और सभी गतिविधियों को भी पूरी क्षमता से शुरू कर दिया गया था। इसकी वजह से लोगों को उम्मीद थी कि नए साल का जश्न इस बार धूमधाम से मनाया जाएगा। लेकिन दिसंबर की शुरुआत होते ही कोरोना संक्रमण में तेजी से इजाफा होने लगा। गाजियाबाद सहित देश के कई राज्यों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। ओमिक्रॉन के मामलों में भी लगातार इजाफा हो रहा है जिसे देखते हुए यूपी सरकार ने प्रदेश में रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कफ्र्यू लागू कर दिया है। साथ ही सार्वजनिक समारोह में भी दो सौ लोगों की क्षमता कर दी गई है। साथ ही कोई भी आयोजन बिना अनुमति के नहीं करने का नियम लागू किया गया है। नाइट कफ्र्यू और सीमित क्षमता को देखते हुए होटल व रेस्टोरेंट संचालकों ने अपने कार्यक्रमों को भी रद्द कर दिया है। नाइट कफ्र्यू होने के चलते रात को होने वाले कार्यक्रमों का आयोजन नहीं हो सकता इसलिए प्रशासन के पास भी एक भी आवेदन परमिशन के लिए नहीं आया है। ऐसे में इस बार भी नए साल का जश्न फीका रहेगा।