नोएडा (युग करवट)। नोएडा के सेक्टर-30 स्थित चाइल्ड पीजीआई में 10 वर्षीय बच्चे की आज सुबह को इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके बाद परिजनों ने चाइल्ड पीजीआई में जमकर हंगामा किया। हंगामे के दौरान परिजनों ने चाइल्ड पीजीआई के चिकित्सकों पर कार्रवाई की भी मांग की। परिजनों की तरफ से हंगामा बढ़ता देख चाइल्ड पीजीआई प्रशासन ने मौके पर पुलिस को बुलाया।
पुलिस ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझा-बुझाकर उन्हें शांत कराया। बच्चे के परिजनों ने इस मामले की शिकायत मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुनील शर्मा से की है। मृतक बच्चे के परिजन आईवी प्रकाश ने बताया कि सेक्टर 16 के रहने वाले 10 वर्षीय उमंग सिंह की अचानक तबियत खराब होने के बाद शुक्रवार दोपहर को चाइल्ड पीजीआई में भर्ती कराया था। चाइल्ड पीजीआई के चिकित्सकों ने उस दौरान बच्चे में डिप्थीरिया के लक्षणों की जानकारी दी थी। शनिवार सुबह बच्चे से मिलने परिजन पहुंचे तो चिकित्सकों और अस्पताल प्रशासन ने बच्चे के मृत होने की सूचना दी।
मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री को ट्वीट कर दी घटना की जानकारी: चाइल्ड पीजीआई में 10 वर्षीय बच्चे की मौत का मामला सोशल मीडिया में काफी तेजी के साथ तूल पकड़ता जा रहा है। बच्चे के परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक को ट्वीट के माध्यम से चाइल्ड पीजीआई में चिकित्सकों की लापरवाही और इस घटना की पूरी जानकारी दी है। साथ ही मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से इस घटना पर संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की भी मांग की है।
स्वास्थ्य विभाग से भी की जाएगी कार्रवाई की मांग
मृतक बच्चे के परिजन आईवी प्रकाश ने बताया कि इस घटना की शिकायत स्वास्थ्य विभाग मैं की गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुनील कुमार शर्मा से इस मामले पर एक जांच कमेटी बनाकर इस घटना की जांच कराने का आश्वासन दिया है।