युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। गुरुग्राम के मानेसर क्षेत्र में कई गांवों में जमीन अधिग्रहण का मुद्दा गरमाने लगा है। मानेसर क्षेत्र के गांव कासन, खोह, कुकड़ौला, सहरावन की 1810 एकड़ जमीन अधिग्रहण को रद करने की मांग लेकर धरने पर बैठे किसान आज दिल्ली आएंगे। किसान परिवार तथा पालतु पशुओं को भी साथ लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। राष्ट्रपति भवन जाकर इच्छामृत्यु की मांग का जवाब मांगेंगे और सरकार द्वारा जबरन अधिग्रहण की जा रही जमीन के मामले को राष्ट्रपति तक पहुंचाएंगे। किसान बचाओ जमीन बचाओ समिति के अध्यक्ष रोहताश यादव ने बताया कि सरकार की तरफ से हमारी जमीन पहले छह बार अधिग्रहीत की जा चुकी है। अब क्षेत्र के किसानों के पास बहुत कम जमीन बची हुई है। इस जमीन का अधिग्रहण औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने के लिए किया जा रहा है। घर उजाडक़र उद्योग स्थापित करना सरकार की बहुत गलत नीति है। मानेसर तहसील के सामने पिछले 106 दिनों से धरने पर बैठे किसानों की तरफ से यह मार्च निकाला जा रहा है। वहीं पुलिस किसानों को हाईवे पर आने से रोकने की तैयारी कर चुकी है। किसानों को मानेसर के पास ही रोका जा सकता है।