नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने आज अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति की समीक्षा रिपोर्ट पेश की। बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है, लेकिन डिजिटल पेमेंट की दुनिया को बदलने का एक बड़ा ऐलान किया है।
बिना इंटरनेट होगा डिजिटल पेमेंट
रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति की घोषणा करते वक्त कहा कि देश में अब बहुत जल्द बिना इंटरनेट के भी डिजिटल पेमेंट किया जा सकेगा। इसका मकसद सुदूर या इंटरनेट नेटवर्क की पहुंच से दूर इलाकों में लोगों को डिजिटल पेमेंट करने की सुविधा देना है। साथ ही इससे इकोनॉमी को कैशलेस बनाने में मदद मिलेगी। शक्तिकांत दास ने कहा कि इसके लिए एक पायलट प्रोजेक्ट चलाया गया था। अब रिजर्व बैंक की योजना ऑफलाइन मोड में रिटेल डिजिटल पेमेंट के लिए एक रूपरेखा बनाने की है।
इतना ही नहीं रिजर्व बैंक ने आईएमपीएस से होने वाले ऑनलाइन पेमेंट की लिमिट को भी बढ़ा दिया है। पहले आईएमपीएस से 2 लाख रुपये तक का ही पेमेंट किया जा सकता था, लेकिन अब इससे 5 लाख रुपये तक का पेमेंट किया जा सकेगा। इससे सबसे ज्यादा फायदा बैंक से रिटेल पेमेंट करने वाले ग्राहकों को होगा।