प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग कवरट)। स्वच्छ सर्वेक्षण के शुरू होने से पहले शहर को स्वच्छता के मामले में अव्वल बनाने की कोशिश तेज हो गई है। इसी क्रम में आज मेयर आशा शर्मा और नगर आयुक्त डॉ. नितिन गौड़ ने संयु़क्त रूप से कूड़ाघर विलोपन अभियान की आरडीसी से शुरूआत की। आरडीसी में जहां कूड़ा पड़ता था वहां आज नगर निगम ने एक जीएनएन लिखकर पार्क बना दिया। यहां बैठने के लिए कुर्सी भी लगा दी गई है। निगम की कोशिश हैकि इस बार स्वच्छता के मामले में और अच्छी रैंक हासिल करे। स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 का आगाज होने जा रहा है। सर्वेक्षण 2022 में गाजियाबाद शहर यूपी में पहले और देश में 12वें स्थान पर आया था। इस बार गाजियाबाद को यूपी में पहले और देश में टॉप 5 शहरों में लाने की कोशिश है। कूड़ा घर विलोपन अभियान को शुरू करने का यहीं धेय है। मेयर आशा शर्मा और नगर आयुक्त डॉ. नितिन गौड़ ने इसलिए इस अभियान को सफल बनाने का आज उद्घाटन कर आगाज किया है। नगर आयुक्त ने बताया कि हाल ही में सभी कूड़ा घरों को विलोपित करने के लिए नगर निगम प्रशासन ने सर्वे कराया है। सर्वे के दौरान जहां भी कूड़ा विलोपित होंगे, उस स्थान पर एक बोर्ड लगाया जाएगा। साथ ही वहां एक कर्मचारी की ड्यूटी होगी। यह कर्मचारी वहां कूड़ा डालने वालों को रोकेगा। अगर कूड़ा घर के विलोपन के बाद भी वहां कोई कूड़ा डालेगा तो उस पर नगर निगम जुर्माना लगाएगा। आरडीसी मे जहां कूड़ा घर विलोपन किया गया है वहां जीएनएन का लॉगो और ब्यूटीफिकेशन किया गया है। कूड़ाघर विलोपन अभियान का उद्घाटन के दौरान नगर निगम के हेल्थ अफसर डॉॅ. नितिन गौड़, बीजेपी नेता वीरेन्द्र सारस्वत, क्षेत्रीय पार्षद राजेन्द्र त्यागी आदि अधिकारी मौजूद रहे।