किसी व्यक्ति विशेष, संस्था व संगठन को सीधे ऑक्सीजन सिलेण्डर की आपूर्ति नहीं: रितु माहेश्वरी
नोएडा (युगकरवट)। नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने एक बयान में कहा है कि कोविड संक्रमण के विस्फोट को नियंत्रित करने एवं संक्रमित मरीजों के उचित उपचार के लिए नोएडा के विभिन्न आरडब्ल्यूए व एओए द्वारा अपने यहां एल-1 फैसलिटी जैसी आवश्यक व्यवस्थायें विकसित कर ली है। यहां पर संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए आवश्यक ऑक्सीजन सिलेण्डरों की आपूर्ति की जिम्मेदारी नोएडा प्राधिकरण के कंधों पर ही है।
प्राधिकरण की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में सीईओ रितु माहेश्वरी ने कहा है कि नोएडा प्राधिकरण द्वारा आपदा की ऐसी घड़ी में इन आरडब्ल्यूए व एओए द्वारा नोएडा में विकसित की गयी एल-1 फैसलिटी में मरीजों का उपचार कराया जाएगा।
उन्होंने बताया कि प्राधिकरण द्वारा किसी व्यक्ति विशेष, संस्था व संगठन को सीधे ऑक्सीजन सिलेण्डर की आपूर्ति नहीं की जायेंगी। प्राधिकरण द्वारा इन एल-1 फैसिटी सेन्टरों से उनके आरडब्ल्यूए व एओए के माध्यम से खाली सिलेंडरों को कम्युनिटी सेक्टर-93बी में स्थापित केन्द्र पर प्राप्त किया जायेगा और उन खाली सिलेंडरों को हरिद्वार, हमीरपुर व अन्य स्थान जहां से ऑक्सीजन की आपूर्ति सम्भव है, वहां से सिलेण्डरों में ऑक्सीजन भरवाया जायेगा और उन्हीं आरडब्ल्यूए व एओए को वापस कर दिया जायेगा।
खाली सिलेण्डर सांय 3 से 6 बजे प्राप्त किये जायेंगे तथा रिफिल सिलेण्डर सुबह 8 से 11 बजे तक वितरित किये जायेंगे। सीईओ ने बताया कि 69 सिलेण्डर आरडब्ल्यूए व एओए से प्राप्त कर आज ऑक्सीजन रिफिल करा कर वितरित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस समय ऑक्सीजन की व्यवस्था करना एक मुश्किल कार्य है। परन्तु यह अनोखी व्यवस्था प्राधिकरण द्वारा स्वयं विकसित की गयी है जो इस संकट की घड़ी में ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे अनगिनत पीडि़तों के लिए अवश्य ही राहत देगी। इस कार्य के लिए सभी संबन्धित प्राधिकरण स्टाफ की ड्यूटी लगा दी गयी।