प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। आरआरटीएस ने नगर निगम को स्थाई रूप से ली जा रही उसकी जमीन के लिए पैसा अदा कर दिया है। आरआरटीएस ने नगर निगम को 99 रुपये का चेक काट कर पैसा अदा कर दिया है। अब जल्दी ही नगर निगम अपनी करीब साढ़े 14 हजार वर्ग मीटर जमीन हाईस्पीड ट्रेन बनाने वाली कंपनी आरआरटीएस को देगा। आरआरटीएस दिल्ली से मेरठ तक हाईस्पीड ट्रेन प्रोजेक्ट तैयार कर रहा है। इसके लिए नगर निगम से कई जगह आरआरटीएस ने करीब साढ़े 14 हजार वर्ग मीटर जमीन की मांग नगर निगम से की थी। नगर निगम ने प्रोजेक्ट के लिए यह जमीन स्थाई तौर पर शासन की अनुमति के बाद जारी कर दी है। अब आरआरटीएस चाहता है कि इस जमीन की उन्हें नगर निगम रजिस्ट्री करे। नगर आयुक्त डॉ. नितिन गौड़ की ओर से एक पत्र शासन को लिखा गया है, हालांकि शासन ने इसके लिए एक पत्र शासन को लिखा है जिसमें उन्होंने इस जमीन की रजिस्ट्री आरआरटीएस को करने के लिए अनुमति मांगी है।