नई दिल्ली (युग करवट)। कांग्रेस के साथ आम आदमी पार्टी के गठबंधन में आखिरी वक्त पर अड़ंगा लग गया है. यह अड़ंगा सिर्फ दिल्ली तक ही सीमित नहीं है, बल्कि गुजरात, गोवा, असम और हरियाणा पर भी लग रहा है। लोकसभा चुनाव को लेकर इंडिया गठबंधन का सीट शेयरिंग का मसला अभी तक हल नहीं हो सका है। राजधानी दिल्ली में ही आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन को लेकर फिर से पेच फंस गया है। इसके साथ ही गुजरात की भरूच सीट को लेकर भी उहापोह वाली ही स्थिति है। कांग्रेस अध्यक्ष खासतौर से आरक्षित सीट नॉर्थ वेस्ट चाहते हैं। इसके अलावा चांदनी चौक, नॉर्थ ईस्ट और ईस्ट दिल्ली पर कांग्रेस की आम आदमी पार्टी से बात चल रही है। दूसरी सबसे बड़ी समस्या गुजरात की भरूच सीट को लेकर है। कांग्रेस का बड़ा तबक़ा यह मानता है कि अहमद पटेल की कर्मभूमि रही भरूच सीट को आप को देना बड़ी गलती होगी। आदिवासी बाहुल्य इलाके में आम आदमी अपने ट्राइबल विधायक चैतर वसावा को लड़ाना चाहती है। जनवरी में अरविंद केजरीवाल ने इसका ऐलान भी कर दिया था।

चैतर आदिवासियों के अच्छे नेता माने जाते हैं और अभी एक मामले में जेल में हैं। सूत्रों के मुताबिक एक-दो दिन में बात आर या पार हो जाएगी। इसमें कुछ सीटों पर तो उम्मीदवार वापस लेने को लेकर भी विचार-मंथन जारी है.
भरूच: सूत्रों के अनुसार सामने आया है कि, भरूच मुद्दे को बातचीत से सुलझा लिया जाएगा, उम्मीद है चीजें जल्द ही पटरी पर आ जाएंगी।
गोवा- आप गोवा में अपना उम्मीदवार वापस लेगी। सामने आया है कि यहां की सीट कांग्रेस के खाते में जा सकती है।
असम: असम में उम्मीदवारों की वापसी पर फैसला अभी नहीं लिया गया है। सूत्र बताते हैं कि आप अपने 3 उम्मीदवारों को वापस लेने पर विचार कर सकती है।
हरियाणा: आप ने हरियाणा के 2-3 लोकसभा क्षेत्रों के नाम प्रस्तावित किए हैं, जिनमें से एक उन्हें आवंटित किया जा सकता है।