युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। टेरर फंडिंग को लेकर देशभर में छापेमारी की गई। ११ राज्यों में हुई इस कार्रवाई में १०० से अधिक लोग गिरफ्तार किये गये हैं। उत्तर प्रदेश से ८ लोग पकड़े गए हैं। ईडी, एनआईए और राज्यों की पुलिस ने 11 राज्यों से पीएफआई से जुड़े 106 लोगों को अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार किया। एनआईए ने पीएफआई के राष्टï्रीय अध्यक्ष ओएमएस सलाम और दिल्ली अध्यक्ष परवेज अहमद को गिरफ्तार कर लिया गया। इनमें से कुछ लोगों को एनआईए के दिल्ली हेडक्वार्टर लाया जा रहा है।
एनआईए के दफ्तर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। एनआईए ने यूपी, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु समेत कई राज्यों में पीएफआई और उससे जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की है। एनआईए को भारी संख्या में पीएफआई और उससे जुड़े लोगों की संदिग्ध गतिविधियों की जानकारी मिली, जिसके आधार जांच एजेंसी आज मैसिव क्रेकडाउन कर रही है।
पीएफआई और उससे जुड़े लोगों की ट्रेनिंग गतिविधियों, टेरर फंडिंग और लोगों को संगठन से जोडऩे को लेकर ये अबतक का सबसे बड़ा एक्शन है। जांच एजेंसी ने सबसे ज्यादा केरल से 22 लोगों को गिरफ्तार किया है। उसके बाद महाराष्टï्र और कर्नाटक से 20-20, आंध्र प्रदेश से 5, असम से 9, दिल्ली से 3, मध्य प्रदेश से 4, पुडुच्चेरी से 3 तमिलनाडु से 10, यूपी से 8 और राजस्थान से 2 लोगों को गिरफ्तार किया है।
दिल्ली के शाहीन बाग और गाजीपुर से पीएफआई से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इसके अलावा लखनऊ के इंदिरानगर से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पीएफआई से जुड़े लोगों पर कार्रवाई के बाद बेंगलुरु और मंगलुरु में एसडीपीआई और पीएफआई कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किए हैं। एनआईए ने कराटे टीचर अब्दुल कादिर पर शिकंजा कस दिया है। सूत्रों के मुताबिक अब्दुल कादिर और पीएफआई पर आरोप है कि कराटे सिखाने की आड़ में मुस्लिम युवकों को दंगे की साजिश के लिए तैयार कर रहे थे। सूत्रों बताते हैं कि गिरफ्तार हुए लोगों के पास से हथियार भी बरामद हुए हैं।