नई दिल्ली। मौलाना जौहर विश्वविद्यालय के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज पूर्व मंत्री व सपा के कददावर नेता आजम खान को बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट ने जौहर विश्वविद्यालय के टेकओवर करने के हाईकोर्ट के आदेश पर फिलहाल रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को मौलाना जौहर यूनिवर्सिटी के टेकओवर का आदेश दिया था। इसकी प्रक्रिया भी शुरू हो गई थी। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने पूरी प्रक्रिया पर रोक लगा दी है।
आजम खान ने ही सुप्रीम कोर्ट में हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी थी। यूपी सरकार ने जौहर विश्वविद्यालय की साढ़े 12 एकड़ जमीन को छोडक़र बाकी जमीन के अधिग्रहण को अवैध बताया था। हाईकोर्ट ने भी यूपी सरकार की दलीलों को सही ठहराया था। इस मामले में 26 किसानों ने पूर्व मंत्री एवं ट्रस्ट के अध्यक्ष आजम खां के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। सुप्रीम कोर्ट ने आज हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट की आज की सुनवाई में सॉलिस्टर जनरल ने यूनिवर्सिटी की तरफ से दायर याचिका का विरोध किया। उनका कहना था कि शिक्षा के लिए जो जमीन दी गई थी, उसका दूसरी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किया गया।
अब सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस भेजा है। मामले की अगली सुनवाई अगस्त में हो सकती है. सॉलिस्टर जनरल ने जल्द सुनवाई की गुजारिश भी की लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने गुजारिश को नहीं माना।