युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। आजम खां पर एक और मामला दर्ज किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने आज उत्तर प्रदेश सरकार की जमकर क्लास ली। सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार के वकील से पूछा कि आजम खान को जमानत मिलते ही एक और केस दर्ज होने का इत्तेफाक क्यों हो रहा है? समाजवादी पार्टी (सपा) नेता आजम खान को मंगलवार को एक मामले में जमानत मिली थी, लेकिन जमानत मिलने से पहले उन पर एक और केस दर्ज हो गया। सुप्रीम कोर्ट में पूर्व मंत्री व सपा नेता आजम खान की जमानत याचिका पर बुधवार को सुनवाई हुई। जस्टिस एल नागेश्वर राव, बी आर गवई और बोपन्ना की अध्यक्षता वाली पीठ मामले की सुनवाई करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के वकील से पूछा कि आजम खान को जमानत मिलते ही एक और केस दर्ज होने का इत्तेफाक क्यों हो रहा है? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह फिर से हो रहा है, एक मामले में सुनवाई के बाद और भी शिकायतें दर्ज होंगी। जब भी उन्हें (आजम) किसी एक मामले में जमानत मिलती है तो दूसरा केस दर्ज होने का इत्तेफाक क्यों? इस पर राज्य सरकार के वकील ने कहा कि कोई भी मामला फालतू नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है। अब अगली सुनवाई मंगलवार को होगी। जिस मामले में आजम खान की जमानत याचिका मंजूर हुई है वो वक्फ बोर्ड की संपत्ति गलत तरीके से कब्जा करने को लेकर है। हालांकि इस जमानत के बाद भी आजम खान जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे। कुछ दिन पहले ही भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने आजम खान के खिलाफ एक शिकायत दर्ज करवाई थी। आरोप लगाया गया कि आजम खान ने रामपुर पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग का सर्टिफिकेट फर्जी बनवा कर मान्यता प्राप्त की थी। अब उसी मामले में अभी तक कोर्ट में सुनवाई नहीं हुई और आजम खान का जेल से बाहर आने का रास्ता बंद हो गया। इस नए मामले में 19 मई को रामपुर कोर्ट में सुनवाई होगी।